Rahul Gandhi And Narendra Modi
बिहार विधानसभा चुनाव 2020

बिहार चुनाव 2020: मोदी-राहुल की एक ही दिन हो रही इंट्री, जानिये कहां-कहां होगी सभा

बिहार में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के लिए अब केवल छह दिन बचे हैं। ऐसे में सभी दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। हालांकि बिहार में असली मुकाबला राजग और महागठबंधन के बीच है। राजग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महागठबंधन के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी की इंट्री एक ही दिन शुक्रवार को होने जा रही है। दोनों नेताओं के उतरने के साथ बिहार में सियासी तापमान बढ़ने की उम्मीद है। दोनों नेता अपने-अपने गठबंधन के लिए कई रैलियां करेंगे।

पीएम मोदी यहां करेंगे रैली
प्रधानमंत्री मोदी विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में 28 अक्टूबर को होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए डेहरी ऑन सोन (रोहतास जिला), गया और भागलपुर में तीन रैलियों में राजग के उम्मीदवारों के लिए समर्थन मांगेगे। भाजपा सूत्रों के मुताबिक, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार डेहरी और भागलपुर में मोदी के साथ रहेंगे। गया में मोदी के साथ जेडीयू नेता राजीव रंजन सिंह ललन और पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी होंगे।

राहुल गांधी यहां करेंगे सभाएं
कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी शुक्रवार को बिहार में प्रचार करेंगे। वह नवादा के हिसुआ और भागलपुर के कहलगांव में दो रैलियों को संबोधित करेंगे। कांग्रेस और राजद के सूत्रों ने बताया कि महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव हिसुआ में राहुल के साथ रहेंगे। हिसुआ में कांग्रेस प्रत्याशी नीतू सिंह का मुकाबला भाजपा के निवर्तमान विधायक अनिल सिंह से है। कहलगांव में राहुल गांधी के साथ शक्तिसिंह गोहिल और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता होंगे।

सभी दलों ने झोंकी पूरी ताकत
भाजपा के लिए केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न स्थानों पर प्रचार किया है। केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने बिहार चुनाव के लिए भाजपा का घोषणा पत्र जारी किया। इसमें लोगों को कोविड-19 का मुफ्त टीका देने का वादा किया गया। जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार रोजाना चार-पांच रैलियों को संबोधित कर रहे हैं और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने के लिए वह डिजिटल रैलियों का भी सहारा ले रहे हैं। विपक्षी खेमे में राजद नेता तेजस्वी यादव अपने पिता लालू प्रसाद की गैरमौजूदगी में चुनावी समर में उतरे हैं। तेजस्वी रोजाना आठ-नौ रैलियों को संबोधित कर अपनी पार्टी और कांग्रेस के अलावा गठबंधन के अन्य दलों के लिए समर्थन मांग रहे हैं।

Share This Post