Muzaffarpur
बिहार विधानसभा चुनाव 2020 मुजफ्फरपुर

Muzaffarpur: इस विधानसभा सीट पर है भूमिहार नेताओं का दबदबा, सबसे ज्यादा बार जीता चुनाव

मुजफ्फरपुर नगर विधानसभा क्षेत्र का इतिहास शुरू से ही दिलचस्प रहा है. मुजफ्फरपुर नगर सीट भूमिहार नेताओं के लिए सेफ जोन साबित होती है. इस सीट पर अब तक के हुए चुनावों में जीत दर्ज कराने वाले प्रत्याशियों में भूमिहार नेताओं की संख्या सबसे ज्यादा रही है.

भूमिहारों के लिए यह जीत का सुविधाजनक रास्ता है. इस बार के चुनावी मैदान में अभी तक भूमिहार नेताओं की सरगर्मी सबसे ज्यादा है. बीजेपी से वर्तमान विधायक सुरेश शर्मा हैं तो उन्हीं के पार्टी के जिलाध्यक्ष रंजन कुमार, डॉ अशोक शर्मा के साथ-साथ बीजेपी के युवा नेता देवांशु किशोर भी लगातार पार्टी के बड़े नेताओं के संपर्क में हैं.

हालांकि, अभी तक वर्तमान विधायक सुरेश शर्मा की पकड़ मजबूत दिख रही है. ये सभी बीजेपी के भूमिहार चेहरा हैं तो वहीं उप मेयर मान मर्दन शुक्ला भी यहीं से चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुके हैं साथ ही वीआईपी पार्टी से जुड़ कर महागठबंधन की टिकट में लगे हुए हैं. इनके अलावा साहित्यकार डॉ संजय पंकज भी चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुके हैं. वहीं, जाप से भी मुक्तेश्वर सिंह मुकेश प्रयासरत हैं.

इतना ही नहीं कांग्रेस से भी कई भूमिहार नेता जुगाड़ में लगे हुए हैं कि यदि कांग्रेस के खाते में ये सीट आए तो वो चुनाव लड़ेंगे. मुजफ्फरपुर जिले से बड़े कांग्रेसी नेता महेश प्रशाद सिन्हा, एल पी साही, रघुनाथ पांडेय जैसे कई बड़े भूमिहार नेता निकले हुए हैं. ऐसे में नई पीढ़ी के भूमिहार नेता भी अपनी जमीन मुजफ्फरपुर में तलाशने में लगे हुए हैं.

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर नगर विधानसभा क्षेत्र से लगभग सभी पार्टियों के भूमिहार नेताओं की इच्छा रहती है कि यदि मुजफ्फरपुर से उन्हें पार्टी की टिकट मिल जाए तो जीत की राह आसान हो जाएगी. यह हम नहीं मुजफ्फरपुर नगर विधानसभा से पूर्व में जीते रिकॉर्ड एवं वर्तमान में भूमिहार प्रत्याशियों की लंबी लिस्ट से पता चल रहा है.

1952- शिव नंदा- कांग्रेस
1957- महामाया प्रसाद- पीएसपी
1962- देवनंदन- कांग्रेस
1967- एमएल गुप्ता- कांग्रेस
1969- रामदेव शर्मा- सीपीआई
1972- रामदेव शर्मा- सीपीआई
1977- मंजयलाल- जनता पार्टी
1980- रघुनाथ पांडेय- कांग्रेस
1985- रघुनाथ पांडेय- कांग्रेस
1990- रघुनाथ पांडेय- कांग्रेस
1995- विजेन्द्र चौधरी- जनता दल
2000- विजेन्द्र चौधरी- राष्ट्रीय जनता दल
2005(फरवरी)- विजेन्द्र चौधरी- निर्दलीय
2005 (अक्टूबर)- विजेन्द्र चौधरी- निर्दलीय
2010- सुरेश शर्मा- भाजपा
2015- सुरेश शर्मा- भाजपा
1952 से विजयी विधायको की लिस्ट में सबसे ज्यादा संख्या भूमिहारों की ही दिखती है.

दो से तीन बार विधायक रहे ये नेता

– 1967 में सीपीआई से राम देव शर्मा, 1972 तक दो बार विधायक रहे.
– 1980 से 1990 तक लगातार तीन बार रघुनाथ पांडेय कांग्रेस से विधायक रहे.
– 2000 से 2020 तक दो बार से सुरेश शर्मा बीजेपी से विधायक है.

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer