समस्तीपुर

रिंकू चौधरी हत्याकांड में नौ नामजद, प्राथमिकी में जमीन कारोबार से जुड़े माफियाओं के नाम

शहर के रिंकू चौधरी हत्याकांड में घटना के दो दिनों बाद बुधवार को नगर पुलिस ने रिंकू की मां सिपाही सुबोध चौधरी के बयान पर नामजद एफआईआर दर्ज की है। इसमें शहर व आसपास के नौ लाेगों को आरोपित किया है। प्राथमिकी में घटना का कारण पुरानी रंजिश बताया गया है। प्राथमिकी के अनुसार पूरे घटनाक्रम की उसकी मां प्रत्यक्षदर्शी गवाह है। उनका दावा है कि वह हत्या व साजिश में शामिल सभी लोगों को जानती है। उनके आंखों के सामने उनके पुत्र को बदमाशों ने गोली मारी है। उधर, नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर सीताराम प्रसाद ने नामजद आरोपितों के नाम का खुलासा से परहेज किया गया है। उन्होंने कहा कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई है। जल्द सभी लोगों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। इधर सीसीटीवी फुटेेज के आधार पर बदमाशों के चेहरे का मिलान किया जा रहा है। बदमाश रिंकू के घर में जाते दिखे हैं।

प्राथमिकी में जमीन कारोबार से जुड़े माफियाओं के नाम

घटना के पीछे मोहनपुर व काशीपुर की जमीन का विवाद है। मोहनपुर के एक सात कट्ठा के प्लांट को लेकर भी लंबे समय से रिंकू का एक जमीन कारोबारियों के गुट से तनातनी चल रही थी। प्राथमिकी में मोहनपुर व काशीपुर के जमीन कारोबार से जुड़े आधा दर्जन लोगों के नाम हैं। मोहनपुर व आसपास के इलाके में जमीन खरीद बिक्री का बड़ा रैकेट चल रहा है। इसमें अबतक कई लोगों की हत्या हो चुकी है। मोहनपुर पुल के पास स्थित एक निजी स्कूल में गोलीबारी में एक युवक की मौत हुई थी।

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer