बिहार

गांधी मैदान में सीएम नीतीश ने फहराया तिरंगा, पंचायत और नगर निकाय शिक्षकों को दिया ये तोहफा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को गांधी मैदान में सुबह नौ बजे झंडोत्तोलन किया। इसके बाद सीएम नीतीश ने मास्क लगाकर 11 टुकड़ियों की परेड की सलामी ली। कोरोना संक्रमण के चलते इस बार सिर्फ पासधारक ही गांधी मैदान समारोह में पहुंचे। इस बार झांकियां नहीं निकलीं। स्कूल-कॉलेज बंद हैं। ऐसे में कोरोना के साये के बीच राजधानीवासी घरों में रहकर ही आजादी का पर्व मना रहे हैं।  

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कहा कि पंचायत और नगर निकाय शिक्षकों की नई सेवा शर्त शीघ्र लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन शिक्षकों की बेहतर सेवा शर्त के लिए नई नियमावली बनाई जा रही है। इसे शीघ्र लागू किया जाएगा। इन शिक्षकों को कर्मचारी भविष्य निधि का भी लाभ दिया जाएगा। 

सीएम नीतीश ने घोषणा की ग्राम पंचायतों में नए स्थापित उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 33 हजार 916 शिक्षकों की नियुक्ति का विज्ञापन शीघ्र जारी होगा।
उन्होंने यह भी घोषणा किया कि विश्वविद्यालय सेवा आयोग को 4000 विश्वविद्यालय-कॉलेज शिक्षकों की नियुक्ति के लिए एक माह के अंदर अधियाचना भेज दी जाएगी। इन शिक्षकों की नियुक्ति के लिए बनी नियमावली में आवश्यक संशोधन भी किया जाएगा।

इसके अलावा सीएम ने कहा कि राज्य में 4997 नर्सों और 4000 चिकित्सकों की नियुक्ति शीघ्र की जाएगी। कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए लोगों के द्वारा प्लाज्मा दान करने पर हर एक को 5000 की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 250 खिलाड़ियों की नियुक्ति शीघ्र होगी। काष्ठ आधारित उद्योगों के विकास के लिए अलग से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी, इसकी नीति भी शीघ्र तैयार कर दी जाएगी।

कलेक्ट्रेट-कमिश्नरी में छात्राओं को आमंत्रण नहीं
कमिश्नरी और कलेक्ट्रेट के समारोह में राजकीय बालिका मध्य विद्यालय की छात्राएं राष्ट्रगान गाती हैं। इस बार कोरोना को देखते हुए यह प्रोग्राम स्थगित कर दिया गया। किसी भी स्कूल में छात्र-छात्राओं की सहभागिता नहीं करने का निर्देश दिया गया।

बैठने के लिए लगा है अलग पंडाल
इस बार गांधी मैदान में कोरोना योद्धाओं को ससम्मान बैठाने के लिए पंडाल में अलग दीर्घा का निर्माण किया गया। कोरोना सेनानी के रूप में डॉक्टर, नर्स, लैब टेक्नीशियन, प्लाज्मा डोनर, एंबुलेंस चालक, पुलिस, सफाई कर्मी प्रशासनिक पदाधिकारी आदि को शामिल किया गया। गर्मी को देखते हुए मैदान में मेडिकल टीम को आवश्यक दवा एवं एंबुलेंस के साथ तैनाती की गई। 

10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों पर होगी रोक
गांधी मैदान में होने वाले झंडोत्तोलन के मुख्य कार्यक्रम में 10 वर्ष से कम और 60 साल से ऊपर के बुजुर्ग को प्रवेश पर प्रशासन ने रोक लगा दी है। यह रोक कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए किया गया है। ऐसे लोगों को झंडोतोलन कार्यक्रम में नहीं आने की सलाह दी गई है, जिनमें कोरोना के लक्षण हैं। 

लोगों से अनिवार्य रूप से मास्क पहनने की अपील 
प्रमंडलीय आयुक्त ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करने की अपील की है। गांधी मैदान में भी मास्क पहनकर आने वाले को ही प्रवेश दिया गया। उन्होंने 2 गज की सामाजिक दूरी कायम रखने तथा सावधान एवं सतर्क रहने की भी अपील की। 

Share This Post