मनोरंजन

‘ड्रग्स बेचने की जरूरत नहीं, पूरा जहाज खरीद सकता हूं’, आर्यन खान ने रखे 10 प्वॉइंट्स फिर भी नहीं मिली जमानत

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को सात अक्टूबर तक एनसीबी की रिमांड में भेज दिया गया है। मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले में आर्यन खान से कई घंटे पूछताछ हुई जिसके बाद एनसीबी ने रविवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया। आर्यन के अलावा गिरफ्तार दो अन्य अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा को मुंबई के किला कोर्ट में पेश किया गया जहां से तीनों को सात अक्टूबर तक कस्टडी में रखने का फैसला सुनाया गया है। एनसीबी की ओर से अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह ने कस्टडी की मांग की। कोर्ट में आर्यन खान के वकील सतीश मानेशिंदे ने एनसीबी के तर्क के सामने कई दलीलें दीं हालांकि वह काम नहीं आईं। तो चलिए बताते हैं कि सतीश मानेशिंदे ने क्या-क्या कहा…

1. सतीश मानेशिंदे: मुझे नहीं पता कौन सा केबिन मुझे दिया गया था लेकिन मैंने जहाज के लिए एक पैसा भी नहीं दिया। मैं आयोजकों में से किसी को नहीं जानता।

2. सतीश मानेशिंदे: मेरे मोबाइल के अलावा मेरे पास से कुछ भी सीज नहीं किया गया है। मेरे दोस्त को इसलिए गिरफ्तार किया गया क्योंकि उसके पास से छह ग्राम चरस मिली थी। मैं उससे जुड़ा भी नहीं था। 

3. सतीश मानेशिंदे: जैसा कि रिमांड में लिखा गया है मेरे पास से ड्रग्स नहीं मिला है। वह दूसरे आरोपियो के पास से मिला है। ऐसे में इससे मुझे नहीं जोड़ा जा सकता है। 

4. सतीश मानेशिंदे: जांच में मेरे व्हाट्सएप चैट को डाउनलोड कर लिया गया है। उनका दावा है कि मेरी चैट, जब मैं विदेश में था तो अंतरराष्ट्रीय ड्रग तस्करी का संकेत देती है। विदेश में रहने के दौरान मै किसी भी तरह के ड्रग तस्करी, खरीदने और बेचने में शामिल नहीं रहा। 

5. सतीश मानेशिंदे: मेरी चैट, डाउनलोड, तस्वीरें कुछ भी किसी तरह की ड्रग्स में भागीदारी की ओर इशारा नहीं करती हैं। अगर ऐसे कोई चैट है जिसमें ड्रग्स पर चर्चा है तो उन्हें देखा जा सकता है कि ड्रग्स तस्करी का संकेत नहीं देती।

6. सतीश मानेशिंदे: मेरी जमानत और रिमांड से इनकार पर विचार कर सकते हैं। रिकवरी की जरूरत नहीं है और आगे की हिरासत के लिए कोई आधार नहीं है।
एएसजी: यह कस्टडी के लिए आवेदन है। उससे पहले जमानत पर बहस नहीं कर सकते।

7. सतीश मानेशिंदे: यह दिखाने के लिए कोई सबूत नहीं हैं कि ड्रग्स खरीदा और बेचा। मैं एक 24 साल का लड़का हूं जिसका पुराना कोई रिकॉर्ड नहीं है। दूसरों ने क्या किया वह मुझ पर नहीं थोपा जा सकता।

8. सतीश मानेशिंदे: 48 घंटे के बाद मेरे खिलाफ कुछ भी नहीं मिला है। उन्हें मुझसे जो भी पूछताछ करनी थी, उनके पास है। मैंने सहयोग किया है, और वे भी मेरे लिए अच्छे थे। मैंने अपना अच्छा आचरण दिखाया। कुछ भी डिलीट नहीं किया।

9. इस बीच सतीश मानेशिंदे और एएसजी के बीच जमकर बहुस हुई। एएसजी ने कहा- ‘वह जहाज पर क्यों था?’ जवाब में सतीश मानेशिंदे ने कहा, ‘ऐसा नहीं है कि आर्यन खान जहाज में ड्रग्स बेच रहा था, वह चाहे तो पूरा जहाज खरीद सकता है।‘  

10. सतीश मानेशिंदे: आर्यन के खिलाफ कुछ भी नहीं है। जहाज पर 1000 और लोग भी सवार हैं उनकी भी जांच कराइए।

Share This Post