बिहार

Patna : अनलॉक 1 के दौरान पालीगंज शादी समारोह में भीड़ , जाँच का आदेश ,8 मोहल्ले हुए सील

पालीगंज में आयोजित एक शादी समारोह में भाग लेने वाले कुल 111 लोगों में कोरोना का संक्रमण पाए जाने के बाद डीएम कुमार रवि भी ने जांच के आदेश दे दिये हैं। पालीगंज एसडीओ के नेतृत्व में गठित जांच टीम यह पता लगाएगी कि शादी समारोह में 50 से ज्यादा लोग कैसे शामिल हुए। इस मामले में दूल्हा और दूल्हन पक्ष के लोगों से भी पूछताछ की जाएगी। वहीं, पालीगंज के अलग-अलग आठ मोहल्लों को सील कर दिया गया है। 

दरअसल, शादी समारोह के लिए अधिकतम 50 लोगों को शामिल होने की इजाजत दी गई थी। इस शादी समारोह के एक दिन बाद ही दूल्हे की मौत हो गई थी, हालांकि उसकी कोरोना जांच नहीं हो पाई थी। बाद में इसमें बाराती, घराती और किसी न किसी रूप में इसमें शामिल हुए 111 लोग संक्रमित मिल चुके हैं। यह प्रशासन के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है। अब प्रशासन यह पता लगाने में जुट गया है कि इतनी बड़ी संख्या में लोगों ने कैसे इसमें भाग लिया। सोशल डिस्टेंसिंग का क्यों नहीं पालन हुआ? इस मामले में बराती और घरवालों से पूछताछ होगी। 

शादी समारोह के ये हैं मानक
कोरोना संक्रमण के वर्तमान दौर में अधिकतम 50 व्यक्ति ही किसी सामाजिक समारोह में भाग ले सकते हैं। साथ ही समारोह में सोशल डिस्टेंस के रूप में 2 गज की दूरी मेंटेन करने, मास्क का अनिवार्य प्रयोग करने आदि सुनिश्चित करना अनिवार्य है। डीएम ने कहा कि अगर शादी समारोह में मानक का उल्लंघन पाया गया तो सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

डीहपाली से नौबतपुर गई थी बारात
मामला पालीगंज प्रखंड के डीहपाली का है, जहां अंबिका प्रसाद चौधरी के बेटे अनिल कुमार के शादी समारोह में शामिल होने वाले कई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए। प्रशासन द्वारा की गई छानबीन में पता चला है कि 15 जून को डीहपाली निवासी अनिल कुमार की शादी होनी थी। 15 जून को बारात नौबतपुर गई और 16 जून को बारात लौटी। 17 जून को दूल्हा अनिल कुमार का देहांत हो गया। 

दूल्हे की मौत के बाद लिया गया सैंपल
दूल्हे की मौत तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल ले जाने के दौरान हो गई थी। इस सूचना के बाद 19 जून की प्रारंभिक जांच में 105 व्यक्तियों के सैंपल लेकर जांच की गई। 21 जून की रिपोर्ट में 15 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए। डीएम ने मेडिकल टीम को इस मामले में सक्रिय एवं तत्पर होकर जांच का दायरा बढ़ाने का सख्त निर्देश दिया गया। इस पर मेडिकल टीम ने 24 जून को  96, 25 जून को 63 और 26 जून को 100 लोगों के सैंपल लिये। इस प्रकार कुल 259 व्यक्तियों के सैंपलों की जांच की गई। 29 जून को आई रिपोर्ट में कुल 79 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए। 

मसौढ़ी में भी मिल चुके हैं संक्रमित
दूल्हे का मूल गांव मसौढ़ी का भगवानगंज है। परिवार पालीगंज में बस गया है। शादी में भगवानगंज से भी लोग शामिल हुए थे। इसलिए यहां भी सैंपल लेकर जांच की गई थी, जिसमें शुरू में सात लोग और 28 जून को एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया था। 

पालीगंज के आठ मोहल्ले कंटनेमेंट जोन
सामुदायिक संक्रमण के बाद पालीगंज के आठ मोहल्लों को कंटनेमेंट जोन घोषित किया गया है। यहां सभी तरह की गतिविधि पर प्रतिबंध लागू रहेगा। सभी मोहल्ले सील किए जा रहे हैं। ये मोहल्ले हैं डीहपाली, मीठाकुआं, बाबा बोरिंग रोड, पुरानी बाजार, बीबीपुर, महाबलीपुर, मेरा और खपुरा। 

Share This Post