पटना

पटना के सिविल सर्जन भी कोरोना पॉजिटिव, जिले में संक्रमितों का आंकड़ा 7 हजार के पार

पटना के सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी, पीएमसीएच के सीनियर डॉक्टर समेत कुल 409 कोरोना संक्रमित मंगलवार को पटना जिले में मिले हैं। इस तरह कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा सात हजार के पार 7394 पर पहुंच गया है। इनमें एक्टिव केस की संख्या 3212 है, जबकि 4139 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं, अब तक 43 लोगों की कोरोना से जान जा चुकी है।

नौकर से संक्रमण फैलने की आशंका
पटना के सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी ने बताया कि वे 10 दिनों के लिए होम आइसोलेशन में चले गए हैं। घर से ही जरूरी काम करेंगे। बताया कि उनके घरेलू नौकर से उनको संक्रमण फैलने की आशंका है। पांच दिन पहले उनके घर पर काम करने वाला नौकर कोरोना संक्रमित पाया गया था। तीन दिन पहले सिविल सर्जन ने रैपिड एंटीजन किट से अपनी जांच कराई थी। उस समय उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी। बाद में अपनी डॉक्टर पत्नी और पुत्री के कहने पर उन्होंने अपनी जांच आरटीपीआर मशीन से कराई। इसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। हल्का सर्दी जैसा लक्षण दिखने के बाद उन्होंने अपनी जांच आरटीपीसीआर मशीन से कराई थी। डॉ. चौधरी ने बताया कि अगले 10 दिनों तक वे किसी भी मीटिंग और बैठक में भी उपस्थति नहीं रह सकेंगे।  

राजीवनगर-दीघा बन सकता है रेड जोन
पटना का दीघा-राजीवनगर का इलाका कोरोना का रेड जोन बनने की ओर अग्रसर है। इस इलाके से मंगलवार को 10 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मिले। अन्य हॉट स्पॉट जोन के रूप में चिह्नित कंटेनमेंट एरिया कंकड़बाग, कदमकुआं, गर्दनीबाग, गोला रोड से भी संक्रमितों का मिलना लगातार जारी है। मंगलवार को आई रिपोर्ट में पीएमसीएच के एक डॉक्टर समेत 67 लोग, आईजीआईएमएस के 20 तथा एम्स में पटना के 17 नए संक्रमित मिले हैं।  सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी ने बताया कि पटना में लगभग 2000 हजार संदिग्ध लोगों की जांच की गई। इनमें अलग-अलग अस्पतालों व जांच केंद्रों से कुल 409 लोग संक्रमित पाए गए। संक्रमितों में गोला रोड, पटना सिटी, राजीवनगर, दीघा, कदमकुआं, गर्दनीबाग, खाजपुरा, राजवंशीनगर, एजी कॉलोनी, जक्कनपुर, कंकड़बाग, भागवतनगर, अगमकुआं, महेंद्रू, आदि इलाके के लोग शामिल हैं। 

एम्स की छह छात्राएं समेत 47 स्वस्थ
पटना एम्स की छह मेडिकल छात्राएं समेत 47 लोगों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। वहीं, 38 संक्रमितों को एम्स के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया। स्वस्थ होने वाली छात्राओं में मीना बधाला, कविता कुमारी, चंद्र कला, मंजू, मोनिका और प्रियंका शामिल हैं। मंगलवार को भर्ती होने वाले संक्रमितों में 21 पटना के हैं।  इनमें कंकड़बाग, गोला रोड, सब्जीबाग-कॉफी हाउस, कुरथौल, शास्त्रीनगर, आनंदपुरी, जकारियापुर, एसके पुरी, खाजपुरा, मालसलामी, फुलवारीशरीफ, जक्कनपुर-जीपीओ, अनीशाबाद, शिवपुरी, दीघा, सदलीचक आदि इलाके के संक्रमित शामिल हैं। वहीं, जमुई के एसडीओ को संक्रमित होने पर एम्स में भर्ती कराया गया है।

पीएमसीएच के एक और डॉक्टर संक्रमित
पीएमसीएच केएनेस्थिसिया विभाग के एक वरीय डॉक्टर मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव हो गए। प्राचार्य डॉ. बीपी चौधरी ने बताया कि मंगलवार को 368 लोगों की जांच हुई, जिनमें 68 लोग संक्रमित मिले। संक्रमितों में राजीवनगर के छह, कदमकुआं के छह, गोला रोड के चार दीघा के चार, गर्दनीबाग के दो, गुलजारबाग के दो, योगीपुर के तीन, जक्कनपुर के तीन के अलावा महेंद्रू, सब्जीबाग, मालसलामी, गांधी मैदान, कुर्जी, पाटलिपुत्रा कॉलोनी, बोरिंग रोड आदि इलाके के संक्रमित शामिल हैं।

पटना के चार समेत छह की कोरोना से मौत
पटना एम्स और एनएमसीएच में मंगलवार को छह लोगों की कोरोना से मौत हो गई। इनमें चार लोग पटना के रहने वाले थे। पटना एम्स के कोरोना के नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि अस्पताल में मरने वालों में ईस्ट रामकृष्णानगर के बधाई टोला के उपेन्द्र शर्मा और फुलवारी के हारुननगर के हारुन रशीद हैं। वहीं, एनएमसीएच के एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ. मुकुल कुमार सिंह ने बताया कि हृदयरोग से ग्रसित पाटलिपुत्रा के नेहरूनगर निवासी रामनरेश प्रसाद (73), पटना के करजन सूर्यपारा निवासी भूपनेश्वर प्रसाद सिंह (65) की कोरोना से मौत हो गई। इसके अलावा जहानाबाद के समेत मखदुमपुर के जर्नादन महतो (50) व रोहतास के बाहेरी करगहर के शिवपूजन पाठक (55) ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस तरह अस्पताल में कोरोना से मरने वालों की संख्या 83 हो गई है। एपिडेमियोलॉजिस्ट ने बताया कि संक्रमित मरीजों के शवों को प्रोटोकॉल के तहत प्लास्टिक में कवर करने के बाद बॉडी बैग में रखकर सेनेटाइज कर शव वाहन से अंतिम संस्कार के लिए भेजा गया है।

Share This Post