Risabh pant
खेल

लोगों ने उसे मंदिर का घंटा समझ लिया था, कोई भी बजाकर चले जा रहा था

टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत पिछले कुछ महीनों से काफी चर्चा में हैं। अपनी खराब फॉर्म और शॉट सिलेक्शन के लिए आलोचकों के निशाने पर रहे पंत की अब दुनिया भर में तारीफ हो रही है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर और फिर इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में पंत ने जिस तरह से बल्लेबाजी की, उसने तमाम आलोचकों की बोलती बंद कर दी। पिछला साल पंत के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं रहा था, उन्हें लिमिटेड ओवर टीम से भी बाहर बैठना पड़ा, लेकिन वापसी का मौका मिलने पर वह चूके नहीं और अपने दमदार प्रदर्शन से सबका दिल जीत लिया। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना ने भी पंत के आलोचकों को मजेदार अंदाज में जवाब दिया है।

हिन्दुस्तान टाइम्स को दिए इंटरव्यू में रैना ने कहा, ‘कोई भी उसे मंदिर का घंटा समझकर बजाकर चले जा रहा था। उसके पहले ऑस्ट्रेलिया दौरे से ही ऐसा लगने लगा था कि वह हर गेंद को हिट करना चाहता है। इंग्लैंड में ऐसा लग रहा था जैक लीच की हर गेंद पर वह छक्का मारना चाहता है। ऐसे स्ट्रोक प्लेयर अगर किसी शॉट पर आउट हो जाते हैं, तो आपको उनको सपोर्ट करना होता है।’

रैना ने आगे कहा, ‘ब्रायन लारा कहते थे, जब समय अच्छा होता है, तो ऐसे खिलाड़ी रन बनाते हैं और जब समय खराब होता है, तो उन रनों से हमें समझना चाहिए कि खिलाड़ी में कितना दम है। ऋषभ पंत को बैक करने की जरूरत है और कप्तान विराट कोहली ने वही किया। पंत कम से कम 10-15 साल टीम इंडिया के लिए खेलेंगे।’

Share This Post