समस्तीपुर

समस्तीपुर: रंजिश की वजह से अपराधियों ने पिटू को बनाया था निशाना, एक गिरफ्तार

समस्तीपुर । मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बाधी निवासी क्षेत्र संख्या 8 के जिला पार्षद मंजू देवी के पुत्र नवनीत कुमार उर्फ पिटू की गोली मारकर हत्या मामले में पुलिस ने एक नामजद आरोपित को गिरफ्तार किया है। गुरुवार की देर रात सदर डीएसपी प्रीतिश कुमार के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने छापेमारी कर हत्या के नामजद आरोपित मुफस्सिल थाना के बाघी निवासी विनोद कुमार सिंह के पुत्र राहुल कुमार को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में गिरफ्तार आरोपित ने हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

शुक्रवार को सदर डीएसपी प्रीतिश कुमार ने बताया कि पूर्व से चली आ रही रंजिश के कारण अपराधियों ने पिटू को निशाना बनाया। घटना से कुछ दिन पूर्व ही मृतक व उसके सहयोगियों द्वारा एक युवक के घर तोड़फोड़ व मारपीट की गई थी। इसके बाद से ही वह बदमाशों के निशाने पर था। दशहरे के समय से ही मृतक को मारने के लिए खोजा जा रहा था। षडयंत्र में शामिल लोग उसके घर भी जुटे थे। इस षडयंत्र में आरोपित के पिता विनोद कुमार सिंह की भी संलिप्तता सामने आ रही है। घटना के 15 दिनों से मृतक की रेकी की जा रही थी और अपराधियों तक इसकी सूचना मिल रही थी। 9 नवंबर को मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के तेलिया पोखर के निकट पिटू एक सैलून में दाढ़ी बना रहा था। इसी बीच अपराधियों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। बाद में मृतक की मां ने थाना में एक आवेदन देकर प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें पांच लोगों को नामजद किया है। सदर डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित ने पूरे घटनाक्रम में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। इससे पूर्व भी एक नामजद आरोपित सोनेलाल को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। घटना में तीन अपराधी शूटर के तौर पर थे, उनका भी नाम सामने आ चुका है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपित का आपराधिक इतिहास रहा है। इस घटना में शामिल आरोपितों ने पूर्व में मुसरीघरारी थाना क्षेत्र में फिल्पकार्ट कंपनी के सामान समेत वाहन लूट की घटना को अंजाम दे चुके हैं। गिरफ्तार आरोपित राहुल कुमार तीन भाई है। इसका बड़ा भाई रोहित लूटकांड में जेल जा चुका है। दूसरे भाई रविरंजन को भी जेल की सजा चुकी है। छापेमारी दल में मुसरीघरारी थानाध्यक्ष विशाल कुमार समेत सशस्त्र बल के जवान मौजूद रहे।

चोरी के समान व हथियार समेत आठ गिरफ्तार

सदर अस्पताल परिसर से पुलिस ने हथियार के साथ आरोपितों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपित की पहचान माधुरी चौक निवासी उपेन्द्र राय के पुत्र राजा कुमार और रवि कुमार के रुप में हुई है। गिरफ्तार आरोपित के पास से एक बिना नंबर की बाइक भी बरामद हुई है। शुक्रवार को सदर डीएसपी प्रितिश कुमार ने बताया कि शुक्रवार की सुबह गुप्त सूचना मिली कि हथियार के साथ कुछ लोग अपराध की साजिश रच रहे हैं। सूचना मिलते ही तत्काल पुलिस टीम ने उक्त स्थल से हथियार समेत दोनों आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। वहीं दूसरी ओर गुरुवार की देर रात नगर थानाध्यक्ष अरुण राय के नेतृत्व में पुलिस टीम ने छापेमारी कर चोरी के सामान समेत छह आरोपितों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपित की पहचान चीनी मिल चौक निवासी राजू महतो के पुत्र सन्नी कुमार, चंदेश्वर सहनी के पुत्र दीपक कुमार, अम्बेडकर नगर के चंदेश्वर राय के पुत्र शिवशंकर कुमार, नीम गली के भोला साह के पुत्र मोनू कुमार और रामविनय महतो के पुत्र विकास कुमार के रुप में हुई है। गिरफ्तार आरोपितों के पास से तीन ड्रील मशीन, एक इन्वर्टर वेल्डिग मशीन, चार मोबाइल, तीन ट्रैगर इलेक्ट्रिक, एक पंखा, एक होम थियेटर, एक मिक्सर ग्राइंडर मिला है। सदर डीएसपी ने बताया कि बीती रात शहर के अमर इलेक्ट्रिक और मेघा अग्रवाल के घर से दो स्थानों पर चोरी की घटना हुई थी। घटनास्थल से सीसीटीवी फुटेज के आधार पर संदिग्धों की पहचान की गई। पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए पुलिस ने चोरी के सामान समेत छह आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

Share This Post