Samastipur News
समस्तीपुर

भारी बारिश में सुरक्षित परिचालन को लेकर समस्तीपुर रेलवे अलर्ट

समस्तीपुर। भारी बारिश में सुरक्षित परिचालन को लेकर रेलवे अलर्ट मोड में है। रेल परिचालन कम से कम बाधित हो इसके लिए सभी तैयारियां पूरी हैं। मानसून के दौरान होनेवाली ऐसी परेशानियों से निपटने के लिए पूर्व मध्य रेल द्वारा बाढ़ पूर्व एहतियाती कदम उठाए गए हैं, ताकि बाढ़ की स्थिति में जब रेल परिचालन बाधित हो तो जल्द से जल्द रेल परिचालन को फिर से बहाल किया जा सके। बाढ़ की आपात स्थिति से निपटने के लिए बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में आने वाले रेलमार्गों के निकट पत्थरों के बोल्डर, स्टोन डस्ट, सीमेंट की खाली बोरियां, बांस-बल्ली आदि पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराए जा रहे। रेलमंडल में ऐसे कई रेलमार्ग हैं, जहां रेल पटरियों अथवा रेल पुलों पर बाढ़ का पानी आ जाने के कारण परिचालन बाधित हो जाता है। इसके मद्देनजर मंडल में स्टोन बोल्डर ट्रैक के निकट रखा जा रहा है। इसके अलावा स्टोन बोल्डर के वैगन भी तैयार रखे गए हैं, ताकि आवश्यकता पड़ने पर इसे उपयोग में लाया जा सके। इसके अलावा स्टोन डस्ट रखे जा रहे। वहीं, स्टोन डस्ट के बैग भी बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों के लिए उपलब्ध किए जा रहे हैं। काफी मात्रा में सीमेंट की खाली बोरियां रखी जा रही हैं, जिससे जरूरत पड़ने पर इसमें स्टोन डस्ट/बालू भरकर ट्रैक के बगल में रखकर ट्रैक को क्षतिग्रस्त होने से बचाया जा सके ।

30 दिनों का चल रहा सेफ्टी ड्राइव रेल प्रशासन संरक्षित रेल परिचालन के उद्देश्य से बाढ़ पूर्व तैयारियां करते हुए मंडल में 30 दिनों का सेफ्टी ड्राइव चल रहा। यह सेफ्टी ड्राइव 10 जून को प्रारंभ किया जा चुका है जो 10 जुलाई तक जारी रहेगा। इस दौरान यार्ड एवं ब्लॉक सेक्शन में जलनिकासी की व्यवस्था, समस्त रेलमार्गों में ओएचई तथा लोको पायलट को सिग्नल देखने में बाधा पहुंचाने वाले पेड़ों के डालों की छंटनी की जा रही। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की पहचान करते हुए इस क्षेत्र में आने वाले रेलमार्गों पर पेट्रोलिग के साथ-साथ वाचमैन भी तैनात किए जा रहे हैं जो रेलवे ट्रैक के आस-पास के जलस्तर की निगरानी करेंगे। वैसे जगहों पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित किया जा रहा है, जहां मिट्टी के धंसने अथवा बहने की आशंका बनी रहती। विद्युत एवं सिग्नल से जुड़े उपकरणों के आस-पास पर्याप्त मिट्टी की व्यवस्था की जा रही है, ताकि वहां बरसात का पानी नही पहुंच सके।

इस बावत समस्तीपुर के वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक सरस्वतीचंद्र ने कहा कि बाढ़ की अद्यतन स्थिति की जानकारी के लिए विभागीय निर्देश व मौसम विज्ञान विभाग से समन्वय स्थापित किया जा रहा है, ताकि भारी बारिश की सटीक जानकारी प्राप्त हो सके और समय पूर्व एहतियाती कदम उठाया जा सके। इसके अलावा कई कदम उठाए भी जा चुके हैं।

Share This Post