Soldiers /samachar9
राष्ट्रीय

गलवान घाटी में हिंसक टकराव से अब तक क्या-क्या हुआ, पढ़ें- 10 बड़े अपडेट

भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर हालात तनावपूर्ण हैं. मई से चली आ रही तनातनी 15 जून की रात हिंसक झड़प में बदल गई और दोनों देशों के सैनिक आपस में भिड़ गए. इस घटना में दोनों तरफ से सैनिकों की मौत हुई है. 16 जून की दोपहर आई इस खबर के बाद से हालात काफी गंभीर हैं. ऐसे में जानते हैं कि अब तक इस पूरे मसले पर कौन से 10 बड़े घटनाक्रम हुए हैं.

1- भारतीय सेना ने 16 जून की दोपहर करीब एक बजे ये बताया कि सोमवार (15 जून) की रात लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए हैं. साथ ही ये भी बताया गया कि दोनों देशों की सेना के वरिष्ठ अधिकारी फिलहाल बातचीत कर रहे हैं, ताकि लद्दाख में हालात सुधर सकें.

2- सेना की घोषणा के बाद कांग्रेस ने कहा कि यह बहुत ही हैरान करने वाली और अस्वीकार्य घटना है. कांग्रेस ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए कहा कि सरकार को तुरंत मीटिंग बुलानी चाहिए और राजनीतिक दलों को इसकी जानकारी देनी चाहिए. दूसरी तरफ सत्ताधारी बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की सीमाएं एकदम सुरक्षित हैं.

3- इसके बाद मंगलवार को ही रात करीब 8 बजे विदेश मंत्रालय ने बताया कि ईस्टर्न लद्दाख में हालात सही करने के लिए भारत और चीन के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर पर बातचीत चल रही है. विदेश मंत्रालय ने बताया कि 15 जून की देर शाम और रात में, चीन की वजह से हिंसक झड़प हुई. विदेश मंत्रालय ने चीन को घटना के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए बताया कि भारत तमाम गतिविधियां अपने सीमा क्षेत्र में करता है और हम चीन से भी ऐसे ही उम्मीद करते हैं. मंत्रालय ने ये भी कहा कि हम शांति चाहते हैं और बातचीत के जरिए सीमा के मसले का हल चाहते हैं. विदेश मंत्रालय ने दोनों तरफ हताहत की जानकारी दी.

4- विदेश मंत्रालय के बाद देर रात सेना का बयान आया. सेना ने बताया कि गलवान में हिंसक झड़प हुई थी, वहां सैनिकों में टकराव खत्म हो गया है. लेकिन सेना की तरफ से जानकारी ये भी आई कि भारत के 20 जवान शहीद हुए और वहां के टेम्परेचर के चलते 17 की स्थिति काफी गंभीर थी.

5- मंगलवार को ही इस घटना के बाद दिल्ली में बैठकों का दौर चला. पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत समेत तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ बैठक की. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट की बैठक हुई. जिसमें प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और वित्त मंत्री शामिल हुए.

6- भारत ने जहां स्थिति बिगड़न के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया तो चीन ने उल्टा भारत पर ही आरोप मढ़ दिया. चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय सैनिक जबरन बॉर्डर पार कर घुस रहे थे, उसी दौरान ये झड़प हुई. चीन ने कहा कि भारत को इस तरह एकतरफा कार्रवाई नहीं करनी चाहिए. चीन ने ये तो माना है कि इसमें उसको नुकसान हुआ है, लेकिन ये मानने को तैयार नहीं है कि कितने सैनिकों की मौत हुई है. समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक इस हिंसक झड़प में चीन के 43 सैनिक हताहत हुए हैं. हालांकि, चीन की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है.

7- हालांकि, अब खबर ये भी आ रही है कि चीन बातचीत करना चाहता है. चीन के एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के एक सैन्य प्रवक्ता ने कहा है कि भारतीय पक्ष को अपने सीमावर्ती सैनिकों को सख्ती से रोकना चाहिए और बातचीत और वार्ता के सही रास्ते पर लौटना चाहिए.

8- चीन सीमा पर शहीद हुए 20 जवानों के नामों को सेना आज जारी करेगी. सूत्रों की मानें, तो चीन बॉर्डर के हालात में अभी ज्यादा बदलाव नहीं आया है. बातचीत का कोई हल निकलकर सामने नहीं आया है. अब सिर्फ लद्दाख ही नहीं बल्कि पूरे LAC पर अलर्ट है. वहीं, शहीद हुए कर्नल बाबू का पार्थिव शरीर आज शाम चार बजे हैदराबाद पहुंचेगा. कर्नल की पत्नी और बच्चे अभी दिल्ली में हैं, यहां से हैदराबाद वह साथ जाएंगे.

9- अमेरिका भी भारत और चीन के बीच जारी इस तनाव पर नजर बनाए हुए है. अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी का कहना है कि भारत-चीन के बीच LAC पर जो भी चल रहा है, उसपर अमेरिका की पूरी नजर है. वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच संघर्षों को लेकर चिंता जाहिर करते हुए दोनों देशों से संयम बरतने की अपील की है.

10- मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि बस, अब बहुत हुआ. हमें सच जानना है कि आखिर क्या हुआ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आखिर चुप क्यों हैं? कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा कि आखिर चीन ने हमारे सैनिकों को मार कैसे दिया? उनकी हिम्मत कैसे हुई कि चीन ने हमारी जमीन को हड़प लिया.

Share This Post