Samastipur Vidhansabha Chunav 2020
बिहार विधानसभा चुनाव 2020 समस्तीपुर

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: ये है 133 समस्तीपुर विधानसभा के संभावित उम्मीदवारों की सूची

समस्तीपुर: बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव की गाइडलाइन आ गयी है । धीरे धीरे चुनावी सरगर्मी बढ़ती जा रही है । सभी पार्टी के कार्यकर्ता टिकट लेने की चाह में जी तोड़ महनत कर रहे हैं । समस्तीपुर का 133 विधानसभा में सबसे रोचक चुनाव होने की संभावना है जहां उम्मीदवार तो बहोत हैं लेकिन किसी एक नें भी प्रबल उम्मीदवारी अभी तक सिद्ध नहीं की है ।

समस्तीपुर विधानसभा में सबसे जादा कुशवाहा वोटर हैं उसके बाद इस सीट पर यादवों की संख्या जादा है । वर्तमान में राजद से अख्तरूल इस्लाम शाहीन दो बार से इस सीट पर जीतते आये हैं । जननायक कर्पूरी ठाकुर के बेटे रामनाथ ठाकुर के राज्यसभा जाने के बाद समस्तीपुर सीट में उम्मीदवारों की संख्या बढ़ गयी । वर्षों से इस सीट पर कर्पूरी ठाकुर के परीवार से हीं कोई चुनाव लड़ता आया है ।

राजद से अख्तरूल इस्लाम शाहीन हीं लड़ेंगे चुनाव

कम उम्र में जननायक के बेटे को हराने के बाद पहली बार राजद से विधायक बनें शाहीन नें लगातार समस्तीपुर में दो बार जीता है इस्लिये राजद उनकी इस सीट से कोई छेर छाड़ नहीं करना चाहेगी और सूत्रों की मानें तो पार्टी में शाहीन का कद बहोत बढ़ चुका है जिससे उन्हें इस सीट से लड़ने में कोई परेशानी नहीं होगी । समस्तीपुर में 85 प्रतिशत यादव और मुसलमान वोट शाहीन को हीं जाता है इस सम्मीकरन को साधते हुए शाहीन आगे चुनाव में जाऐंगे ।

भजपा में लंबी है उम्मीदवारों की सूची

भाजपा आज भारत और दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है जिसका वजह है इसकी कार्यक्षमता। भाजपा छेत्रीय सुझाव पे बहोत अमल करती है यही वजह है की भाजपा बिहार और उत्तर प्रदेश में जातीय सम्मिक्रण पे सबसे अधीक तवज्जूब देती है । लेकिन इस बार समस्तीपुर में ये देखना दिलचस्प होगा कियुंकि अधीक कुशवाहा वोटर वाले इस छेत्र में भूमिहार उम्मीदवारों की संख्या इस बार अधीक है जिसमें सबसे आगे इस बार राम सुमिरन सिंह चल रहे हैं जिन्हों बीते 5 वर्षों में जमीनी स्तर पे भाजपा और जनता के लिये दिन रात एक कर कार्य किया हैं वहीं उनकी टक्कर सरायरंजन के पूर्व भाजपा प्रत्याशी रंजीत निर्गुणी से है जिनकी कुशल राजनीति और युवा बुद्धिजीवी जैसी छवि को भी लोग और पार्टी काफी पसंद करती है और ये दोनो प्रत्याशी जनता के बीच भी काफी लोकप्रिय हैं । वहीं अगर जातीय सम्मिक्रण देखें तो भाजपा से प्रबल दावेदार मनोज गुप्ता होंगे । मनोज गुप्ता भी उम्मीदवारी की होड़ में आगे चल रहे हैं पार्टी उनपे भी दाव लगाने से हीहिचकेगी नहीं । वहीं पार्टी अगर महिला उम्मीदवार पे दांव लगाएगी तो विमला सिंह का नाम सबसे ऊपर आयेगा । अब देखने वाली बात ये है की भाजपा इनमें से किसी पे दांव लगाएगी या फिर सीट जदयू को जायेगा ।

महेश्वर हजारी बेटे के लिये मांग सकते हैं समस्तीपुर सीट

सरकार में मौजूदा मंत्री और नीतीश कुमार के करीबी मानें जानें वाले महेश्वर हजारी भी अपने बेटे को इस बार चुनाव में उतार सकते हैं । सूत्रों की मानें तो नीतीश कुमार से लगातार महेश्वर हजारी इस बात को लेकर संपर्क में हैं । वहीं खबर ये भी आ रही है की रामनाथ ठाकुर की बेटी भी जदयू से उम्मीदवार हो सकती है ।

ये खबर जनता की राय और समाचार9 की टीम के द्बारा जुटायी जानकारी के आधार पर बनायी गयी है । जुड़ें रहें हमारे साथ ।

Share This Post