समस्तीपुर

Samastipur: घुटने भर गंदे पानी में चलने पर लोग मजबूर, कई घरो में भी पानी

शहर के बारहपत्थर मोहल्ले में लोग जलभराव की समस्या से जूझ रहे हैं। लगातार हो रही बारिश के कारण सड़कों पर जलजमाव की स्थिति है। सड़क पर घुटने पर पानी इकट्ठा है। कई घरों में भी बरसात का पानी घुस गया है। घरों से निकलते ही लोगों को गंदे पानी से होकर जाना मजबूरी है। जलभराव की वजह से सड़क पर गड्ढे बन चुके हैं। राहगीरों को इन गड्ढों का अंदाजा नहीं मिल पाता और रोजाना कई लोग गिर कर चोटिल होते हैं। वार्ड पार्षद उमेश वर्मा ने बताया कि जलनिकासी के लिए नाला निर्माण कराया जा रहा है। फिलहाल अस्थायी व्यवस्था कराकर पानी निकलवाया जाएगा। म

इन दिनों लगातार हो रही झमाझम बारिश से शहर में जगह-जगह जलजमाव जैसा नजराना दिखने को मिल रहा है। गली-मोहल्लों से लेकर सड़कों पर जलजमाव ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। बारिश के कारण शहर के मुख्य सड़क सहित विभिन्न मोहल्लों में जलजमाव व नाला का पानी सड़क पर जमा होने से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। एक तो कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लोग परेशान हैं। दूसरा बरसात ने परेशानी दोगुनी कर दी है। मंगलवार को भी रुक-रुककर कभी बूंदाबांदी तो कभी झमाझम बारिश ने मौसम को सुहावना बना दिया। लेकिन दिन भर हो रही बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त हो गया। मोहनपुर में मुख्य मार्ग पर घुटने पर पानी जमा हो गया है। इससे राहगीरों को आवागमन में परेशानी हो रही है। नाला निर्माण में मानकों की अनदेखी

शहरी क्षेत्र में जल निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण अक्सर बारिश के कारण सड़क पर जलजमाव की स्थिति बन जाती है। शहर के अधिकतर सड़कों पर जलजमाव व नाले का गंदा बहता दिख जा रहा है। अब भी कई ऐसे मोहल्ले हैं, जहां नाला नहीं बन पाया है। जहां नाला बने भी हैं, वहां नाला निर्माण करवाते समय लेयर का ध्यान नहीं रखा गया। इस कारण नाला जाम की भी समस्या बनी रहती है। नाला जाम होने की वजह से बारिश के दिनों में सड़कों पर जलजमाव हो जाता है। लोगों का कहना है कि नगर परिषद द्वारा कभी भी सटीक प्लान तैयार नहीं किया गया। शहर में जलनिकासी के लिए मास्टर प्लान बनाने की जरूरत है। जिससे कि शहर के सभी नालों को एक दूसरे से जोड़ते हुए लेयर के अनुसार बनवाए जाएं।

Share This Post