Vaccine van
बिहार

कोविशील्ड वैक्सीन की 20 हजार डोज की दूसरी खेप बिहार पहुंची

बिहार में कोविशील्ड वैक्सीन के 20 हजार डोज की दूसरी खेप हवाई मार्ग से बुधवार को बिहार पहुंची। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे से यह दूसरी खेप राज्य को उपलब्ध करायी गयी। तीन बडे़ बॉक्सों में यह खेप बिहार पहुंची। प्रत्येक बॉक्स में 384 वॉयल कोरोना वैक्सीन रखी गई है। यानी कुल 1152 वॉयल कोरोना वैक्सीन और आ गयी है।

इसे पटना एयरपोर्ट से पूरी सुरक्षा के साथ नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एनएमसीएच), पटना स्थित राज्य टीका औषधि भंडार में रखा गया। इसके पूर्व मंगलवार को राज्य को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा भेजी गयी 10 डोज वाली 54,900 वॉयल कोविशील्ड वैक्सीन प्राप्त हो चुकी है। इन वैक्सीन के भंडारण एवं जिलों में भेजने की तैयारी भी पूरी कर ली गयी है।

राज्य वैक्सीन भंडार के अलावे 9 क्षेत्रीय भंडार में हो रहा भंडारण
राज्य स्वास्थ्य समिति के अनुसार सभी प्राप्त हो चुकी कोरोना वैक्सीन का राज्य वैक्सीन भंडार के अलावे 9 क्षेत्रीय वैक्सीन भंडार में भंडारण हो रहा है। ये क्षेत्रीय भंडार सारण, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, दरभंगा, सहरसा, भागलपुर, पूणियां, नालंदा एवं औरंगाबाद में स्थित है। 

 तीन सौ टीकाकरण केंद्रों के टीकाकरण टीम को दिया गया प्रशिक्षण 
 समिति के अनुसार बुधवार को राज्य के सभी तीन सौ टीकाकरण केंद्रों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं टीकाकरण टीम को प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण में सभी जिलों के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी एवं जिला मूल्यांकन एवं अनुश्रवण पदाधिकारी भी शामिल थे। इन्हें टीकाकरण स्थल पर टीका दिए जाने के पूर्व एवं बाद के दिशा-निर्देशों की जानकारी दी गयी। 

टीकाकरण को लेकर कोविन पोर्टल पर निबंधन अनिवार्य 
समिति के अनुसार चयनित समूह के लोगों को टीकाकरण का लाभ उठाने के लिए कोविन पोर्टल पर अपना निबंधन अनिवार्य रूप से करना होगा। ताकि पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से टीकाकरण और उसके निर्धारित समय के बारे में स्वास्थ्य विभाग द्वारा सूचना दी जा सके। पंजीकरण के लिए लाभार्थी को फोटोयुक्त पहचान पत्र देना होगा। पहचान पत्र में बैंक व पोस्ट ऑफिस के पासबुक सहित केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा पहचान पत्र शामिल किए गए हैं। इसके अलावा विधायको या एमएलसी को जारी आधिकारिक प्रमाण पत्र भी सूची में शामिल है। 

कोरोना टीका सभी के लिए सुरक्षित 
राज्य स्वास्थ्य समिति ने एक बार फिर स्पष्ट किया है कि कोरोना टीका सभी के लिए सुरक्षित है। इसे लगवाने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने पोस्टर जारी कर जनमानस को इसके तरीकों से अवगत कराया है। मंत्रालय के अनुसार आवश्यक प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद ही स्वीकृत की गयी है और पूर्णत: सुरक्षित है। टीकाकरण के बाद किसी प्रकार की परेशानी के प्रबंधन के लिए भी टीकाकरण स्थल पर पर्याप्त व्यवस्था की गयी है। 

पंजीकरण के लिए ये कागजात हैं महत्वपूर्ण 
आधार, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी, पैन कार्ड, पासपोर्ट, जॉब कार्ड, पेंशन दस्तावेज, मनरेगा कार्ड, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड। 

लाभार्थियों को इन बातों का रखना होगा ध्यान 
– चयनित लाभार्थी सत्र स्थल पर उचित फोटो आइडी अपने पास रखें
– टीका लगने के बाद निर्धारित क्षेत्र में 30 मिनट तक रुकना है
– दूसरा टीका लगवाने के लिए एसएमएस के अनुसार दी तारीख पर आएं 
 

Share This Post