Glass Bridge Rajgir
बिहार

देश का दूसरा और पूर्वोतर भारत का पहला ग्लास ब्रिज बिहार में बन कर तैयार, जानिए खासियत

देश का दूसरा और पूर्वोतर भारत का पहला ग्लास ब्रिज बिहार में बनकर तैयार हो चुका है। इसे पर्यटकों के लिए कभी भी खोला जा सकता है। अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल राजगीर के नेचर सफारी में ग्लास ब्रिज को बनाया गया है। राजगीर का नेचर सफारी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजक्ट है।

राजगीर नेचर सफारी में चीन के हांगझोऊ प्रांत की तर्ज पर बना यह ग्लास ब्रिज बन कर तैयार हो चुका है, लेकिन नेचर सफारी को पूरा होने में अभी वक्त लगेगा। शनिवार को प्रोजेक्ट का जायजा लेने पहुंचे सूबे के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मार्च 2021 तक यह पूरा हो जाएगा। इसके बाद नेचर सफारी का लुफ्त उठाने के लिए यहां पर पर्यटक आ सकेंगे।

देश का पहला ग्लास ब्रिज उत्तराखंड के ऋषिकेश में बना लक्ष्मण झुला है। राजगीर की नेचर सफारी 500 एकड़ में फैले बुद्धमार्ग के बीचोंबीच बनी है। इस नेचर सफारी में ग्लास ब्रिज के अलावा जू सफारी भी है। आप यहां पर रोप-वे साइकलिंग भी कर पाएंगे। 

क्या है इसकी खासियत
– 200 फीट ऊंचा, 85 फीट लंबा और 6 फीट चौड़ा है यह ग्लास ब्रिज।
– एक बार में 40 पर्यटक जा सकते हैं।
– चीन के हांगझोऊ प्रोविंस की तर्ज पर बना है।
– देश का दूसरा और पूर्वोतर भारत का पहला ग्लास ब्रिज है।
– गौतम बुद्ध की विरासत वाली राजगीर नगरी में स्थित है।
– राजगीर अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थली है।
– ग्लास ब्रिज के साथ आप नेचर सफारी, रोप-वे साइकलिंग भी कर सकते हैं।

Share This Post