Crime
समस्तीपुर

समस्तीपुर में बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या में फांसी की सजा

तीन साल की मासूम बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने के मामले में षष्ठम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश सह विशेष न्यायाधीश ने शनिवार को पॉक्सो एक्ट में आरोपित को फांसी की सजा सुनाई है।

मामले में सजा पाने वाला आरोपित रामलाल महतो दलसिंहसराय थाना क्षेत्र के पांड गांव का निवासी है। वह पूर्व से ही समस्तीपुर मंडल कारा में इस मामले में बंद है। न्यायाधीश ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उसे सजा सुनाई। न्यायालय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, रामलाल ने 2018 में तीन साल की अबोध बच्ची की दुष्कर्म के बाद नृशंस हत्या कर ओल के खेत में शव फेंक दिया था।

इस मामले में बच्ची की मां ने दलसिंहसराय थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी। प्राथमिकी में कहा था कि 2 जून 2018 की शाम करीब छह बजे उसकी तीन साल की बेटी भाई के साथ बकरी चराने गयी थी। उसी दौरान आरोपित उसे गोद में उठा कर ले जाकर दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी थी। बच्ची की मां उजियारपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है। बच्ची के पिता दिल्ली में मजदूरी करते हैं। बच्ची अपनी मां के साथ ननिहाल आयी थी। जहां आरोपी ने इस घटना को अंजाम दिया। कई लोगों ने आरोपित को बच्ची को ले जाते देखा था।

इस मामले की जांच में जुटी पुलिस ने साक्ष्यों के आधार पर आरोपित को दबोचा था। इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से आठ गवाहों का बयान न्यायालय में दर्ज कराया गया था। सभी गवाहों ने घटना की पुष्टि की थी। अभियोजन पक्ष की ओर से विशेष लोक अभियोजक विनोद कुमार व बचाव पक्ष की ओर से नरेन्द्र कुमार ने बहस की। सजा सुनाने के दौरान दलसिंहसराय और उजियारपुर के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Share This Post