समस्तीपुर

समस्तीपुर : एनएच 22 पर दिल्ली पुलिस की वर्दी में शराब कारोबारियों से लूटने वाले छह गिरफ्तार

बिहार के समस्तीपुर जिले के सदर डीएसपी प्रीतिश कुमार के नेतृत्व में बंगरा थाने की पुलिस ने अंतर्राज्यीय नकली पुलिस लुटेरा गिरोह को दबोचने में सफलता हासिल की है। पुलिस को यह कामयाबी मंगलवार रात मिली। पुलिस ने अपराधियों के पास से एक खाली ट्रक के अलावा पुलिस का बोर्ड व सायरन लगी लक्जरी कार, लाइसेंसी रिवाल्वर, दिल्ली पुलिस की वर्दी व कई बोतल शराब बरामद की है।

पकड़ा गया सरगना अवधेश कुमार यूपी के फिरोजाबाद के एका थाना क्षेत्र के जिगना गांव का निवासी है। वह आईटीबीपी का रिटायर जवान है। वह अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर व दिल्ली पुलिस की वर्दी पहन कर लूट की घटना को अंजाम देता था। पकड़े गये अन्य अपराधियों में नई दिल्ली बदरपुर का ओमप्रकाश सोलंकी, सीतामढ़ी के मोहनी मेजरगंज का मो. आलम, दिल्ली बदरपुर का राजकुमार सिंह एवं हेमंत कुमार शामिल है।

मामले में गिरफ्तार ट्रक चालक की पहचान औरंगाबाद दाउदपुर बेज रोड निवासी विनोद कुमार के रूप में की गयी है। बुधवार को नगर थाना पर आयोजित प्रेसवार्ता में सदर डीएसपी प्रीतिश कुमार ने बताया कि इस गिरोह की गिरफ्तारी के बाद एक नयी शैली से अपराध करने का खुलासा हुआ है। डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी लोगों को शराब बेचने के नाम पर चूना लगाते थे। वे पहले शराब का सैंपल दिखा बताते थे कि ट्रक पर शराब से लदी है। एनएच-28 के किसी लाइन होटल पर पांच से दस लाख में सौदा कर वे ट्रक बेच देते थे। उसके बाद खरीदने वाला जैसे ही ट्रक लेकर आगे बढ़ता था पीछे से पुलिस लिखी कार से पीछा करना शुरू कर देते थे। इससे ट्रक ले जाने वाला ट्रक सड़़क पर ही छोड़ कर भाग जाता था। उसके बाद ये लोग पुन: दूसरे ग्राहक की तलाश में जुट जाते थे। इस तरह यह गिरोह एनएच पर शराब बेचने के नाम पर लोगों को लूटा करते थे।


डीएसपी ने बताया कि पुलिस सभी गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ में जुटी है। छापेमारी बंगरा थाना अध्यक्ष अनिल कुमार व पुलिस कर्मी शामिल थे। प्रेस वार्ता में नगर थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद, मुफस्सिल थाना अध्यक्ष विक्रम आचार्य भी उपस्थिति थे।

Share This Post