समस्तीपुर

तीन दिनों के अंदर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में करें ब्लीचिग का छिड़काव :समस्तीपुर जिलाधिकारी

समस्तीपुर। जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने वीडियो कान्फ्रेंसिग कक्ष में बाढ़ प्रभावित कल्याणपुर, बिथान, सिघिया, हसनपुर, विभूतिपुर, उजियारपुर, समस्तीपुर, सरायरंजन, खानपुर, ताजपुर और मोरवा प्रखंड की समीक्षा अधिकारियों के साथ की। बैठक में बाढ़ से ध्वस्त पुल, पुलिया एवं सड़क का सर्वे कर पंचायतवार सभी उपस्थित प्रखंड विकास पदाधिकारी ने प्रतिवेदन दिया। पंचायतवार हैलोजेन टैबलेट का वितरण, ब्लीचिग एवं अन्य छिड़काव, कोविड-19 के जांच प्रतिवेदन पीएचसी प्रभारी द्वारा प्रस्तुत किया गया। कार्यपालक पदाधिकारी (ग्रामीण कार्य विभाग एवं पथ निर्माण विभाग) द्वारा बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए सड़क का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया।

डीएम ने कहा कि सभी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हैलोजन टेबलेट का वितरण, लाइम और ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव तीन दिनों के अंदर शत-प्रतिशत सुनिश्चित करें। जीआर की राशि का भुगतान बाढ़ प्रभावित परिवारों को दो दिनों के अंदर पूरा करने को भी कहा। बैठक में अपर समाहर्ता विनय कुमार राय, आपदा प्रभारी पदाधिकारी गौरव कुमार, सभी संबंधित प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी, पीएचसी प्रभारी, कार्यपालक अभियंता ग्रामीण कार्य विभाग एवं पथ निर्माण विभाग एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

बता दें कि जिले में कुल बाढ़ से प्रभावित प्रखंडों की संख्या 11 है। इसमें प्रभावित पंचायतों की संख्या 70 है। 18 पंचायत पूर्ण रूप से प्रभावित हैं। जबकि आंशिक रूप से 52 पंचायत प्रभावित हैं। प्रभावित गांव की संख्या 158 है। डीएम के अनुसार पॉलीथीन शीट्स का वितरण 22652 किया गया है। जबकि 191 नावें बाढ प्रभावित क्षेत्रों में चल रही है। सात मोटरवोट भी चल रहे हैं। 21 स्वास्थ्य केन्द्र संचालित हैं। अब तक 3855 लोगों को इसमें इलाज किया गया है। बाढ पीड़ितों के बीच 71155 हैलोजेन टैबलेट वितरित किए गए हैं। जबकि 128 स्थानों पर ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव कराया जा चुका है। बाढ प्रभावित क्षेत्रों में 36 पशु कैंप भी संचालित हैं। जहां अब तक 4408 पशुओं का इलाज किया गया है। वही बाढ पीड़ितों के बीच सरकार से मिलने वाली 4,04,68,8000 राशि खाते में भेजी जा चुकी है।

Share This Post