बिहार

सुशांत सिंह केस: मुंबई गई बिहार एसआईटी को अब लीड करेंगे पटना के एसपी सिटी विनय तिवारी

बॉलीवुड अभिनेता दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत केस मामले में पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी मुंबई के लिए रवाना होंगे। सिटी एसपी वहां जांच के लिए वहां पहले से पहुंची चार सदस्यीय पटना एसआईटी का नेतृत्व कर मामले की मॉनिटरिंग करेंगे। मामले की पुष्टि एसएसपी रेंज ने की है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले शनिवार को बिहार के डीजीपी ने संकेत देते हुए एक प्रश्न के उत्तर में कहा था कि बिहार पुलिस सुशांत मामले की जांच करने में सक्षम है। यदि आवश्यकता होगी तो जांच की अगुवाई के लिए आईपीएस रैंक के एक अधिकारी को मुंबई भेजा जाएगा।

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा था कि फिल्म अभिनेता स्व. सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले का पूरा सच बिहार पुलिस सामने लाएगी। हम रहस्य से पर्दा उठाकर रहेंगे। बिहार पुलिस की टीम मुंबई में कैंप की हुई है और पूरे मामले की छानबीन में जुटी है। शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस में डीजीपी ने कहा था कि हमलोग चाहते हैं कि मुंबई पुलिस सारे कागजात, घटना स्थल का फुटेज, पोस्टमार्टम आदि हमारी टीम को मुहैया कराए। टीम को ऑटो से वहां आना-जाना पड़ता है, इसलिए उन्हें वाहन उपलब्ध कराए। उन्हें सुरक्षा दिलाए। डीजीपी ने कहा कि एक अफवाह फैली कि मुंबई पुलिस ने बिहार की टीम के साथ दुर्व्यवहार किया है, पर यह सच नहीं है। दरअसल मुंबई पुलिस नहीं चाहती है कि पटना से गई हुई टीम वहां की मीडिया से बात करे। इसलिए टीम को वहां की पुलिस मीडिया से बचने के लिए अपने वाहन में बैठाकर ले गई। 

सुशांत सिंह के पिता ने 25 जुलाई को केस दर्ज कराया
उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह के पिता ने पटना के राजीवनगर थाने में 25 जुलाई को इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराई है और छह लोगों को अभियुक्त बनाया है। बिहार पुलिस की चार सदस्यीय टीम 27 जुलाई को मुंबई पहुंची, जिनमें दो निरीक्षक और दो दारोगा शामिल हैं। 27 को ही टीम सुशांत सिंह के फ्लैट में गई और पूरी जानकारी एकत्र की। फिर सुशांत सिंह की मित्र (उस महिला का नाम मुझे नहीं मालूम) के घर जाकर भी पूरी तहकीकात की है। 28 को सुशांत सिंह के मित्र महेश सेठी से टीम ने बात की और उनके पास से काफी जानकारी मिली है। 28 को टीम बांद्रा की डीसीपी से मिली। 29 को डीसीपी (क्राइम) से मिलने टीम गई, पर घंटों बैठे रहने के बाद भी वे कार्यालय नहीं आए। दो दिन बात 31 जुलाई को टीम से उनकी मुलाकात हुई। टीम ने सुशांत सिंह की मित्र रही अंकिता लोखंडे, उनके कूक आदि से भी बात कर महत्वपूर्ण जानकारी हासिल की है। 

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार
सुशांत के पिता केके सिंह द्वारा पटना के राजीवनगर थाने में एक एफआईआर दर्ज कराने के बाद इस आत्महत्या मामले की जांच के लिए बिहार पुलिस की टीम मुंबई गई हुई है। बिहार के डीजीपी ने कहा, ‘हमारी टीम मुंबई में है और हमारे वरिष्ठ एसपी वहां अपने समकक्ष के साथ लगातार संपर्क में हैं। शुक्रवार को हमारी टीम डीसीपी क्राइम से मिली और उन्होंने आश्वासन दिया कि वे सहयोग करेंगे। वे भी सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। फिर वे हमें सभी दस्तावेज मुहैया कराएंगे।’

Share This Post