राजनीति

तेज प्रताप को आखिर मिल गई सुरक्षित सीट, इस विधानसभा क्षेत्र से लड़ेंगे चुनाव !

लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव अपना चुनाव क्षेत्र बदल सकते हैं। अगले विधानसभा चुनाव में वह महुआ की जगह हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से मैदान में उतर सकते हैं। इसका संकेत सोमवार को उन्होंने ट्वीट के माध्यम से दिया है। वह सोमवार को हसनपुर जाएंगे।

तेजप्रताप ने ट्वीट में कहा है कि ‘अब घर-घर होगा तेज संवाद, मैं हसनपुर विधानसभा क्षेत्र आ रहा हूं।’ इसका मतलब साफ है कि सोमवार को तेज प्रताप हसनपुर जाकर वहां के मतदाताओं से संवाद भी करेंगे।

राजद प्रमुख के बडे़ पुत्र के बारे में पहले से ही कहा जा रहा है कि वह क्षेत्र बदलने की फिराक में हैं। तेजप्रताप महुआ को अपने लिए सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं। इसीलिए वह बहुत दिनों से दूसरे क्षेत्र की तलाश में थे।

माना जा रहा है कि पिछले हफ्ते रांची जाकर उन्होंने अपने पिता राजद प्रमुख लालू प्रसाद से क्षेत्र बदलने सहमति भी ले ली है। अब तैयारियों में जुटना चाह रहे हैं। राजद के सामाजिक समीकरण के हिसाब से हसनपुर को भी अनुकूल माना जा रहा है। पिछली बार महागठबंधन में वह जदयू के हिस्से में गया था, जहां से राजकुमार राय विधायक चुने गए हैं।

बिहार पर भार है राज्य सरकार : लालू
राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने ट्वीट के माध्यम से 15 साल की सरकार के विकास के दावे पर तंज कसा है। रविवार को ट्वीट करके लालू प्रसाद ने राज्य सरकार की 15 साल की खामियां गिनाते हुए तुकबंदी की है। आरोप लगाया है कि राज्य की यह सरकार बिहार पर भार है।


लालू ने अपने अंदाज में इस तुकबंदी के जरिए कई आरोप मढ़े हैं। लिखा है कि राजग सरकार के सत्ता में आए 15 साल हो गए। पुल-बांध लगातार टूटते रहते हैं। घोटाले होते रहते हैं। हत्या, लूट, डकैती की घटानाएं आए दिन हो रही हैं। उन्होंने कहा है कि राज्य में सुशासन सिर्फ प्रचार में ही दिखता है। आम आदमी डरा रहता है। शिक्षा की बदहाली है। किसान लाचार हैं। महिलाओं पर अत्याचार है। मजदूर बेहाल है। युवा बेरोजगार है। हालात बदतर हो रहे लगातार हैं। प्रवासियों को ठिकाना नहीं है। गरीबों पर महंगाई की मार है। छात्र लाचार हैं। अगर ये सारी बातें सही है तो यह सरकार बिहार पर भार है।

Share This Post