Bihar Election 2020
राजनीति

नीतीश पर जमकर बरसे तेजस्वी यादव, कहा- वे नेता नहीं, ब्लैकमेलर व बार्गेनर हैं

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने रविवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार नेता नहीं बल्कि ब्लैकमेलर और बार्गेनर हैं। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं की बैठक हुई। इसमें सरकार को घेरने की रणनीति पर चर्चा के बाद जब वे बाहर आए तो नीतीश पर खूब बरसे।

पत्रकारों ने तेजस्वी यादव से नीतीश कुमार के उस बयान के बारे में प्रतिक्रिया मांगी, जिसमें बिहार सीएम ने शनिवार को कहा था कि चुनाव के दौरान पता नहीं चला कि कौन साथ है और कौन नहीं। इस पर जवाब देते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि यह जैसे को तैसा है। अगर आप नीतीश कुमार के इतिहास को देखेंगे तो पता चलेगा कि उन्होंने जॉर्ज फर्नांडिस, स्वर्गीय दिग्विजय सिंह और हमारी पार्टी के साथ क्या किया है। उन्होंने किसको धोखा नहीं दिया? उन्होंने पीछे के दरवाजे से सत्ता हासिल की है। उन्हें सत्ता की भूख है।

तेजस्वी ने कहा कि उनके द्वारा हो रही बिहार की बर्बादी को सब लोग देख रहे हैं। वे एक ब्लैकमेलर और बार्गेनर हैं। वे नेता नहीं है। वे जनता के लिए नहीं बल्कि सिर्फ अपने लिए हैं।

बिहार विधानसभा के आगामी बजट सत्र के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि मैं शनिवार को बिहार विधानसभा से अध्यक्ष से मिला था। इनकी तैयारी बजट सत्र को तीन चार दिन में निपटा देने की है। यह सरकार लोकतंत्र के लिए खतरा बन गई है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अगर विधानसभा सत्र परंपरागत ढंग से नहीं चला तो मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्रियों के आवास का हमलोग घेराव करेंगे।


उन्होंने कहा कि स्कूल-कॉलेज खुल गए हैं। सबकुछ अब ट्रैक पर आ गया है। जब हमारे सामने सबसे बड़ी समस्या आ गई है तो आप चाहते हैं कि विधानसभा की कार्यवाही ही न चले। अगर सत्र परंपरागत ढंग से नहीं चलता है तो पूरा विपक्ष इसका बायकॉट करेगा।


तेजस्वी यादव ने किसानों के समर्थन में और कृषि कानूनों के खिलाफ भी अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि किसान विरोधी कानून के खिलाफ हम किसानों के साथ मजबूती से खड़े हैं। बिहार ऐसा प्रदेश है, जहां 16 साल से NDA की सरकार में नीतीश कुमार जी ने इस प्रदेश को बेरोजगारी का केंद्र और मजबूर प्रदेश बना दिया है।

Share This Post