Tejasvi Yadav
बिहार विधानसभा चुनाव 2020

मां राबड़ी देवी के साथ पहुंचे तेजस्‍वी ने डाला वोट, बोले-बिहार में हर कोई सरकार से खफा, पढ़ाई-दवाई-कमाई पर पड़ रहे वोट

महागठबंधन की ओर से मुख्‍यमंत्री पद के उम्‍मीदवार तेजस्‍वी यादव ने मां राबड़ी देवी के साथ पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वोट डालने के बाद तेजस्‍वी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि बिहार में आज हर कोई सरकार से खफा है। आज बिहार के लोग पढ़ाई, दवाई, कमाई, सिंचाई, महंगाई,सुनवाई वाली सरकार चाहते हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि लोकतंत्र में सब लोग अपने मतों का इस्तेमाल करके बदलाव जरूर करेंगे।

तेजस्‍वी ने बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी से उन्‍होंने पत्र लिखकर सवाल पूछे लेकिन उन्‍होंने इन बिंदुओं पर जबाब नहीं। आज वह एक बार फिर बिहार आ रहे हैं तो उम्‍मीद है कि इन बिंदुओं पर जवाब देंगे। तेजस्‍वी ने कहा पिछले दिनों बिहार बड़े विकट दौर से गुजरा है। कोरोना काल में मजदूरों को बड़े पैमाने पर पलायन करना पड़ा। बाढ़ की वजह से बिहार में लोग बुरी तरह बदहाल हुए। संकट के इस दौर में सरकार की कार्यप्रणाली ठीक नहीं रही। लोग सरकार के रवैये से खफा हैं। 

17 जिलों की 94 सीटों के लिए मतदान हो रहा

आज बिहार में दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों के लिए मतदान हो रहा है। इस चरण में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव, सरकार के चार मंत्रियों श्रवण कुमार, रामसेवक सिंह, नंदकिशोर यादव व राणा रणधीर सहित 1463 उम्मीदवार मैदान में है। 2 करोड़ 86,11,164 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इनमें 1,50,33,034 पुरुष, 1,35,16,271 महिला एवं 980 थर्ड जेंडर के मतदाता शामिल हैं। इनके अतिरिक्त 60,879 सर्विस मतदाता भी अपना वोट डालेंगे। निर्वाचन विभाग के अनुसार इस चरण में 80 वर्ष से अधिक उम्र के और दिव्यांग मतदाता 20,240 बैलेट पेपर के माध्यम से भी वोट करेंगे।

1463 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा
दूसरे चरण में मंगलवार को 1463 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा। इस चरण में 1316 पुरुष, 146 महिला एवं एक थर्ड जेंडर की उम्मीदवार इनमें शामिल हैं। दूसरे चरण में सबसे अधिक 27 उम्मीदवार महाराजगंज निर्वाचन क्षेत्र में और सबसे कम चार उम्मीदवार दरौली (सु) निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव मैदान में हैं। वहीं, 40 विधानसभा क्षेत्रों में एक से अधिक महिला प्रत्याशी चुनाव लड़ रही हैं। इस चरण में 513 निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं।  चुनाव आयोग के निर्देश पर सभी निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव की तैयारियों को पूरा कर लिया गया है। इस चरण में हरेक मतदान केंद्र पर अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गयी है। इस चरण में सुरक्षा बलों की करीब 1200 कंपनियों को तैनात किया गया है।

41,362 बूथों में 8694 बूथ संवेदनशील
निर्वाचन विभाग के अनुसार दूसरे चरण के चुनाव को लेकर संबंधित जिलों में 41,362 बूथों का गठन किया गया है। इनमें 8694 बूथ संवेदनशील बूथ के रूप में चिन्हित किए  गए हैं। इन बूथों से करीब 4 लाख 01 हजार 631 मतदाता को संवेदनशील मतदाता के रूप में चिन्हित किया गया है। इनमें 44,282 मतदाताओं को धमकी या दबाव देने वाले व्यक्तियों पर नजर रखी जा रही है।

3548 बूथों से हो रही लाइव वेब कॉस्टिंग
निर्वाचन विभाग के अनुसार दूसरे चरण के मतदान पर  निगरानी को लेकर 3548 बूथों से लाइव वेबकॉस्टिंग कराने का निर्णय लिया गया है। मतदान को लेकर 41,362 कंट्रोल यूनिट, 41,403 बैलेट यूनिट और 41,362 वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा। इस चरण में दीघा विधानसभा क्षेत्र मतदाताओं की दृष्टि से सबसे बड़ा चुनाव क्षेत्र हैं जबकि चेरिया बरियारपुर मतदाताओं की दृष्टि से सबसे छोटा चुनाव क्षेत्र है।

Share This Post