समस्तीपुर

समस्तीपुर नगर परिषद सफाई कर्मियों कर्मियों की हड़ताल से फिर बाधित होगी शहर की सफाई व्यवस्था

समस्तीपुर । लंबित आठ सूत्री मांगों को लेकर नगर परिषद सफाई कर्मियों ने कार्य का बहिष्कार कर दिया। मंगलवार को शहर में प्रतिरोध मार्च निकाला। नगर परिषद कार्यालय के मुख्य द्वार का घेराव करते हुए नारेबाजी की। नगर भवन से सफाई कर्मियों ने हाथों में झाड़ू लेकर मुख्य मार्ग से ओवरब्रिज गोलंबर चौराहा, मारवाड़ी बाजार, रामबाबू चौक होते हुए नगर परिषद कार्यालय पहुंचे। यहां नगर परिषद कार्यालय को घेर लिया। उपरांत स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ के जिला सचिव लाल बहादुर साह की अध्यक्षता में एक सभा हुई। सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने दैनिक सफाई कर्मियों की समस्या तथा लंबित आठ सूत्री मांगों पर विस्तार से चर्चा की।

इन कर्मियों की ये रही मांग

नगर परिषद में वर्षों से कार्यरत सभी दैनिक कर्मचारियों को स्थायी करने, वेतन विसंगति को दूर कर समान काम के बदले समान वेतन देने, एपीएफ एवं जीवन बीमा की राशि कर्मचारियों की खाता में जमा करने, सातवां वेतनमान से स्थायी कर्मचारियों को बकाया 12 माह का वेतन भुगतान करने, सभी सेवा निवृत कर्मचारियों को पेंशन एवं सेवांत लाभ का भुगतान करने, कोरोना से बचाव संबंधित सभी समानों की आपूर्ति करने, पूर्व में किए गए सभी समझौता को लागू कर समस्या का निदान करने की मांग आंदोलनकारियों के आंदोलन में शामिल रही। संगठन के जिला सचिव ने कहा कि समस्याओं को लेकर कई बार सशक्त स्थायी समिति और कार्यपालक पदाधिकारी का ध्यान आकृष्ठ कराया गया। लेकिन इसका कोई निदान नहीं हुआ। मौके पर एक्टू के जिला प्रभारी सुखलाल यादव, संजू देवी, सुरेखा देवी, रेखा देवी, ममता देवी, सुरेश राम, रंजीत राम, प्रमोद राम, प्रेम शंकर कुमार, राजकुमार राम समेत दर्जनों दैनिक सफाई कर्मी मौजूद रहे।

दैनिक सफाई कर्मियों के हड़ताल से साफ सफाई का कार्य बाधित

नगर परिषद दैनिक सफाई कर्मियों की हड़ताल से शहर में साफ सफाई की व्यवस्था प्रभावित हो गई है। मुख्य मार्ग से लेकर जगह जगह कचरे का ढेर जमा हो गया। हालांकि, नगर परिषद द्वारा जेसीबी और ट्रैक्टर से कचरे का उठाव किया गया है। बता दें कि शहर में प्रत्येक दिन लगभग 20 टन कचरे का उठाव किया जाता है। सफाई कर्मियों की हड़ताल से साफ सफाई व कचरा उठाव की व्यवस्था प्रभावित हो रही है।

Share This Post