Corona Test
राष्ट्रीय

राहत की बात: ज्यादा है कोरोना की दूसरी लहर का कहर, पर 99% मरीज हो रहे रिकवर

कोरोना वायरस की दूसरी लहर जबसे देश में आई है, तब से तबाही के मंजर दिखाई दे रहे हैं। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र समेत कई राज्य हैं, जहां पर रोजाना हजारों मामले सामने आ रहे हैं। इन सबके बीच ऑक्सीजन की किल्लत की वजह से भी कई मरीजों की जान चली गई है। सोशल मीडिया, टीवी न्यूज, अखबार सभी माध्यम कोरोना की खबरों से पटे पड़े हुए हैं। लोग आपस में ही एक-दूसरे की मदद करके मिसाल पेश कर रहे हैं। 

हालांकि, चारों ओर डर के इस माहौल के बीच ऐसा आंकड़ा सामने आया है, जिससे काफी हद तक भय में जी रहे लोगों को राहत मिलेगी। दरअसल, कोरोना के चलते ज्यादातर लोग ठीक हो जा रहे हैं। यूं तो पिछली बार की तुलना में इस बार रोजाना होने वाली मौतों का आंकड़ा भी बढ़ा है, लेकिन अगर इसे फीसदी में देखें तो एक पर्सेंट से कुछ ही ज्यादा है। हालांकि, कई जगह रिपोर्ट्स यह भी सामने आई हैं कि मृतकों का आंकड़ा सरकारी आंकड़ों से कहीं अधिक ज्यादा है, लेकिन चूंकि इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही है, इसलिए ये मौतें दर्ज नहीं हो पा रही हैं।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना से होने वाली मृत्यु की दर 1.12 फीसदी है, जिसका मतलब यह है कि तकरीबन 99 फीसदी मरीज बीमारी को हराकर ठीक हो रहे हैं। पिछले 24 घंटों में देश में रिकॉर्ड साढ़े तीन लाख से ज्यादा नए कोविड के मामले मिले हैं। इससे कुल संक्रमितों की संख्या देश में बढ़कर एक करोड़ 73 लाख पहुंच गई है। इनमें से 1.95 लाख लोगों की संक्रमण के चलते मौतें भी हुई हैं। इस हिसाब से देखें तो देश में मृत्युदर 1.12 फीसदी ही है। बाकी लोग या तो ठीक हो गए या फिर ठीक हो रहे हैं। अलग-अलग राज्यों में 85-90 फीसदी मरीजों को अस्पतालों में भर्ती करवाने की भी जरूरत नहीं पड़ती है। ऑक्सीजन की हो रही किल्लत के बीच राहत देने वाली बात यह भी है कि काफी कम लोगों को ही मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। ज्यादातर लोग मेडिकल ऑक्सीजन और अस्पताल में जाए बिना ही घर पर रहकर ठीक हो जा रहे हैं।

अस्पतालों में भर्ती हुए मरीजों में से तकरीबन 28 फीसदी लोगों ही वेंटिलेटर तक जा रहे हैं। पिछली लहर में यह आंकड़ा 37 फीसदी था। सोमवार सुबह सामने आए आंकड़े के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटों में 2.20 लोग संक्रमण से जंग जीतते हुए ठीक हुए हैं। हालांकि, देश में पॉजिटिविटी रेट काफी ज्यादा है। हर चार में से एक व्यक्ति की कोरोना जांच पॉजिटिव पाई जा रही है। पिछले एक दिन में 14.02 लाख लोगों की कोरोना जांच की गई, जिसमें से 3.54 लाख लोग कोविड से संक्रमित मिले हैं। डॉक्टर्स और हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर सही कोविड व्यवहार का पालन किया जाए तो देश में जल्द ही पॉजिटिविटी रेट को पांच फीसद पर लाया जा सकता है।

Share This Post