बिहार

बिहार-झारखंड के लिए 10 नवंबर से रोज चलेगी ये 9 ट्रेनें, देना होगा फेस्टिवल स्पेशल किराया

त्योहारी मौसम को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने बिहार और झारखंड की बहुप्रतिक्षित मांग पर मुहर लगा दी। बोर्ड से हरी झंडी मिलते ही धनबाद-पटना गंगा दामोदर एक्सप्रेस सहित नौ ट्रेनों को 10 नवंबर से रोजाना चलाने का ऐलान कर दिया गया। इन ट्रेनों में गोमो होकर चलने वाली पटना-रांची जनशताब्दी, पूर्णिया-हटिया व इस्लामपुर-हटिया स्पेशल भी शामिल हैं। सभी ट्रेनें 10 नवंबर से 30 नवंबर तक हर दिन फेरा लगाएंगी।

धनबादवासियों के लिए रेलवे की तरफ से दीपावली का इससे अच्छा तोहफा नहीं हो सकता था। वैश्विक महामारी कोरोना के कारण करीब साढ़े सात माह से ये ट्रेनें बंद थीं। दीपावली और छठ महापर्व पर धनबाद से बिहार जाने वाले यात्रियों को ट्रेन नहीं चलने से काफी परेशानी हो रही थी। रेल सूत्रों के अनुसार शुक्रवार की सुबह आठ बजे से या फिर शनिवार से इन ट्रेनों की बुकिंग शुरू कर दी जाएगी। स्पेशल ट्रेनों में यात्रा के लिए यात्रियों को फेस्टिवल स्पेशल किराया चुकाना पड़ेगा।


सहरसा, खगड़िया व बेगूसराय का भी मिला विकल्प
गंगा दामोदर के साथ-साथ पूर्णिया-हटिया स्पेशल कोय स्वीकृति मिलने से धनबाद के लोग आसानी से सहरसा, खगड़िया और बेगूसराय जा सकेंगे। हालांकि इस ट्रेन को पकड़ने के लिए यात्रियों को गोमो जाना पड़ेगा। इधर गंगा दामोदर शुरू होने से बिहार के कई स्टेशनों पर जाना आसान हो जाएगा। लोग आरा, बक्सर, दानापुर व हाजीपुर जाने के लिए पहले भी गंगा दामोदर पर ही आश्रित रहे हैं।

24 बोगियों के साथ चलेगी, कंफर्म टिकट पर ही यात्रा संभव
गंगा दामोदर एक्सप्रेस 24 बोगियों के फुल रेक के साथ चलेगी। इसमें छह जनरल बोगियों के अलावा स्लीपर की नौ, थर्ड एसी की चार, सेकंड एसी की एक और फर्स्ट एसी की एक कंपोजिट बोगी के अलावा दो एसएलआर बोगियां जोड़ी जाएंगी। किसी भी श्रेणी में सफर के लिए यात्रियों को रिजर्वेशन कराना जरूरी होगा। बिना कंफर्म टिकट के यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। एक पीएनआर पर एक टिकट भी कंफर्म होने पर उस पीएनआर की अन्य वेटिंग लिस्ट के यात्रियों को सफर करने की इजाजत होगी। स्पेशल ट्रेन में किसी प्रकार का रियायती टिकट जारी नहीं किया जाएगा। अखिलेश पांडेय, सीनियर डीसीएम, धनबाद ने बताया कि त्योहारी मौसम को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने गंगा दामोदर सहित अन्य ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दी है। फिलहाल 30 नवंबर तक ट्रेन को चलाने की स्वीकृति मिली है। मांग के आधार पर आगे भी ट्रेन चलवाने का प्रयास करेंगे।

Share This Post