बिज़नेस

सस्ते में सोना खरीदने के लिए बचे हैं तीन दिन, मोदी सरकार दे रही है मौका- ऐसे उठाएं फायदा

मोदी सरकार की सोने में निवेश की स्कीम सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने के लिए तीन दिन का समय बचा है। सरकार ने 12 अक्टूबर से स्कीम शुरू की थी जो शुक्रवार 16 अक्टूबर को खत्म हो रही है। मोदी सरकार निवेशकों की इस स्कीम के जरिये मार्केट प्राइस से कम दाम में सोने में निवेश करने का मौका देती है। अगर कल के 13 अक्टूबर को देशभर के सर्राफा बाजारों में बिक रहे सोने के औसत मूल्य से तुलना करें तो यह आपको 637 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता मिल रहा है। कल 24 कैरेट सोने का मूल्य 51147 रुपये है जबकि सरकार आपको सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के रूप में 50510 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेट से निवेश का मौका दे रही है। 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के रूप में मिलने वाले इस सोने का भाव बढ़ने का लाभ निवेशक को तो मिलता ही है, साथ ही उन्हें इन्वेस्टमेंट रकम पर 2.5 फीसद का गारंटीड फिक्स्ड ​इंटरेस्ट भी मिलता है। बता दें भौतिक सोने की मांग को कम करने और वित्तीय बचत में घरेलू बचत के एक हिस्से को स्थानांतरित करने के उद्देश्य से 2015 में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना शुरू की गई थी। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना भारत सरकार ने सबसे पहले 30 अक्टूबर 2015 को लॉन्च किया गया था। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के अब तक 40 ट्रेंच हो चुके हैं। 

पांच साल पहले जिन्होंने इस बॉन्ड में निवेश किया होगा, उनकी रकम अब दोगुनी हो गई है। 30 नवंबर 2015 को सरकार ने 2684 रुपये प्रति ग्राम यानी 26840 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेट से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी किया था। वैसे तो इसकी मैच्योरिटी 30 नवंबर 2023 को पूरी होगी, लेकिन 30 नवंबर 2020 से निवेशक पैसा निकाल सकते हैं। सब्सक्रिप्शन के लिए आज से खुल रहे बॉन्ड की कीमत से तुलना करें तो 5 साल पहले निवेश करने वालों की रकम दोगुनी हो गई है। 12 से 16 अक्टूबर तक मिलने वाले गोल्ड की कीमत 5,051 रुपये प्रति ग्राम तय की गई है।

मोदी सरकार अब सातवीं सीरीज के रूप में एक बार फिर बॉन्ड लेकर आई है। यह बॉन्ड तब आया है जब सोने की कीमतें  56000 रुपये प्रति 10 ग्राम से गिरकर 51000 के आसपास गई है। बता दें  सरकार की ओर से भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी किए जाते हैं। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए सरकार अक्टूबर 2020 से लेकर मार्च 2021 तक कुल छह सीरीज में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी करेगी।

साीरीज 2020-21सब्सक्रिप्शन अवधिजारी करने की डेट
सातवीं12 से16 अक्टूबर 202020 अक्टूबर 2020
आठवीं9 से 13 नवंबर 202018 नवंबर 2020
नौवीं28 दिसंबर 2020 से एक जनवरी 20215 जनवरी 2021
दसवीं11 से15 जनवरी 202119 जनवरी 2021
11वी1 से 5 फरवरी 202109 जनवरी 2021
12वीं01से 05 मार्च 20219 मार्च 2021

कहां से खरीदें

एसजीबी के हर आवेदन के साथ निवेशक को PAN जरूरी है। सभी कामर्शियल बैंक (आरआरबी, लघु वित्त बैंक और भुगतान बैंक को छोड़कर), डाकघर, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या सीधे एजेंटों के माध्यम से आवेदन प्राप्त करने और ग्राहकों को सभी सेवाएं प्रदान करने के लिए अधिकृत हैं। 

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड क्या है

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेशक को फिजिकल रूप में सोना नहीं मिलता। यह फिजिकल गोल्ड की तुलना में अधिक सुरक्षित है। जहां तक शुद्धता की बात है तो इलेक्ट्रॉनिक रूप में होने के कारण इसकी शुद्धता पर कोई संदेह नहीं किया जा सकता। इस पर तीन साल के बाद लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगेगा (मैच्योरिटी तक रखने पर कैपिटल गेन टैक्स नहीं लगेगा) वहीं इसका लोन के लिए  इसका उपयोग कर सकते हैं। इन बॉन्ड्स की अवधि 8 साल की होती है। अगर बात रिडेंप्शन की करें तो पांच साल के बाद कभी भी इसको भुना सकते हैं।

Share This Post