Viral News

बेटी की लव मैरिज रुकवाने के लिए मां-बाप ने कोर्ट में कहा- हमारी बेटी कोरोना पॉजिटिव, जानें फिर क्या हुआ

कोरोना काल में मध्य प्रदेश के खंडवा जिले से एक अनोखी लव स्टोरी का मामला सामने आया है। यहां लड़की के घर वालों को लड़का पसंद नहीं था। लड़की शादी करने के लिए कोर्ट पहुंची तो शादी रुकवाने के लिए परिजन भी कोर्ट पहुंच गए और उन्होंने कहा कि लड़की को कोरोना है इसके बाद लड़की को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया गया। हालांकि, युवती का कहना है कि कोरोना हारेगा और उनका प्यार जीतेगा।

दरअसल, अमलपुरा इलाके की 19 वर्षीय युवती का अपने ही समाज के एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवक के परिजन को लड़की पसंद थी, जबकि युवती के परिजन को लड़का पसंद नहीं था। युवती को उसके परिजन ने मना भी किया, लेकिन वह नहीं मानी। इस बीच डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में युवक-युवती लव मैरिज करने के लिए शपथ पत्र बनवाने पहुंचे। इस दौरान लड़की के परिवार के लोग जब कोर्ट पहुंचे तो उन्होनें कहा ‘वकील साहब! आप इस लड़की से दूर रहिए, इसे कोरोना है।’  इतना ही नहीं परिजन ने स्वास्थ्य विभाग के हेल्पलाइन नंबर 104 पर भी शिकायत कर दी कि कोरोना पॉजिटिव युवती कोर्ट में शादी के लिए शपथ पत्र बनवा रही है।

कोरोना का नाम सुनते ही टाइपिस्ट और वकीलों में हड़कंप मच गया। युवती का शपथ पत्र बनवा रहे वकील ने भी उससे दूरी बना ली। फिर हाथ जोड़कर कहा- ‘आप पहले कोरोना की जांच करवा लीजिए। रिपोर्ट निगेटिव आने पर आपकी मदद करेंगे, क्योंकि इस स्थिति में कोई भी वकील आपका केस नहीं लेगा।’ इसी दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम कोर्ट पहुंची और युवती को जिला अस्पताल ले गई. जांच के लिए सैंपल लेकर लड़की को 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन कर दिया गया।

कोरोना सैंपल के बाद मामला 14 दिन आगे बढ़ गया है। इस दौरान युवती ने कहा कि कोरोना मेरे प्यार को नहीं हरा सकता। अभी नहीं तो बाद में हम दोनों एक-दूजे के होंगे। कोरोना हारेगा और प्यार जीतेगा। वहीं, वकील वीरेंद्र वर्मा ने कहा कि शादी के लिए आई युवती सामान्य दिख रही थी। मैंने खुद उनसे बात की, कोरोना के उसमें कोई लक्षण नहीं थे। विवाह रोकने के लिए परिजन ने कोरोना को हथियार बनाया। इसलिए उन्होंने कोर्ट में आकर हंगामा किया। हालांकि, युवती की रिपोर्ट आना बाकी है।

Share This Post