उत्तर प्रदेश

बिना परीक्षा के पास होंगे दो लाख पॉलीटेक्निक विद्यार्थी, प्रस्ताव पर लगी मोहर

उत्तर प्रदेश के पॉलीटेक्निक संस्थानों में बिना परीक्षा के पास किए जाएंगे दो लाख विद्यार्थी प्राविधिक शिक्षा परिषद के प्रस्ताव पर शासन ने लगाई मोहर पॉलीटेक्निक के प्रथम और द्वितीय वर्ष के छात्रों को नहीं देनी होगी परीक्षा।

पॉलीटेक्निक की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं की शुरुआत के साथ ही प्रथम और द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर है। कोरोना संक्रमण के चलते परीक्षाएं न कराने और पहले सेमेस्टर की परीक्षा के आधार पर विद्यार्थियों को प्राेन्नत करने का फैसला लिया गया है। विद्यार्थियो की सुरक्षा के चलते और समय के अभाव को देखते हुए यह निर्णय लिया गया। इस निर्णय से राजधानी समेत प्रदेश के दो लाख पॉलीटेक्निक विद्यार्थियों को फायदा होगा। प्राविधिक शिक्षा परिषद के इस प्रस्ताव पर शासन की हरी झंडी मिलने के साथ ही प्रक्रिया शुरू करने की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

पॉलीटेक्निक की सेमेस्टर परीक्षाएं हर वर्ष अप्रैल और जनवरी में होती हैं। 58 ट्रेडों के करीब पौने तीन लाख विद्यार्थी में परीक्षा में शामिल होते हैं। कोरोना संक्रमण काल के चलते अप्रैल में परीक्षा नहीं हो सकी। ऐसे में इस समय परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को जनवरी 2020 में हुई परीक्षा के अंकों के आधार पर प्रमोट करने का प्रस्ताव प्राविधिक शिक्षा परिषद की ओर से शासन काे बीते महीने भेजा गया था। शासन की अनुमति के बाद अब अगले महीने से प्रोन्नत की प्रक्रिया शुरू होगी। प्राेन्नत किए गए विद्यार्थियों का अगली सेमेस्टर परीक्षा जनवरी में होगी।

प्राविधिक शिक्षा सचिव आरके सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते सुरक्षा कारणों से ऐसा प्रस्ताव भेजा गया था। शासन की अनुमति के बाद प्रोन्नत की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। प्रथम और द्वितीय वर्ष के करीब दो लाख विद्यार्थियों को फायदा होगा। अंतिम वर्ष की परीक्षा समाप्त होने के साथ प्रमोट कर दिया जाएगा। 

पॉलीटेक्निक पर एक नजर

  • सरकारी संस्थान-150
  • सहायता प्राप्त संस्थान-19
  • निजी संंस्थान-1127
  • डिप्लोमा की ट्रेड 58
  • पास होेने वाले विद्यार्थी -दो लाख
Share This Post