Corona Vaccine
Coronavirus राष्ट्रीय

कोरोना के खिलाफ सरकार ने की जंग तेज, अप्रैल में छुट्टियों समेत अब हर दिन लगाई जाएगी वैक्सीन

देश में बढ़ते कोरोना वायरस के खिलाफ भारत सरकार ने जंग तेज कर दी है। टीकाकरण अभियान को गति देने के उद्देश्य से सरकार ने बड़ा फैसला लिया है और इसके तहत अब हर दिन कोरोना की वैक्सीन लगेगी। भारत सरकार ने कहा कि अप्रैल में अब हर दिन (सरकारी छुट्टियों समेत) प्राइवेट से लेकर सरकारी वैक्सीनेशन सेंटर पर कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। 

दरअसल, अब तक सरकारी छुट्टियों के दिन वैक्सीन नहीं लगाई जाती थी, मगर अब भारत सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि सरकारी छुट्टी के दिन भी कोरोना का टीका लगेगा। बता दें कि जिस रफ्तार से कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, उसने केंद्र से लेकर राज्यों को टेंशन में ला दिया है। यही वजह है कि अब वैक्सीनेशन ड्राइव को गति देने का काम किया जा रहा है। देश में कोरोना से सबसे अधिक हालत खराब महाराष्ट्र की है।

अब तक कितने लोगों को वैक्सीन
अगर बुधवार तक के आंकड़ों की बात करें तो अब तक देश में 6.43 से अधिक लोगों को कोरोना की वैक्सीन लग चुकी है। बुधवार शाम की रिपोर्ट के मुताबिक, देश में अब तक 6,43,58,765 लोगों को टीके की खुराकें दी गई हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, 82,47,288 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई है जबकि 52,38,705 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है। इसी तरह अग्रिम पंक्ति के 91,34,627 कर्मियों को टीके की पहली खुराक लगाई गई है जबकि 39,23,172 अग्रिम पंक्ति के कर्मियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है। साठ वर्ष से अधिक उम्र के 3,00,39,599 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की पहली खुराक दी गई है। इस आयु वर्ग के 86,869 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

आज से 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन
देश में आज यानी एक अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों का टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है। अभी तक 60 साल से अधिक उम्र वाले बुजुर्गों और 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग जिन्हें गंभीर बीमारियां हैं, उन्हें ही टीका लगाया जा रहा था। मगर आज यानी 1 अप्रैल से अब 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को भी वैक्सीन लगनी शुरू हो गई। सरकार ने जल्द से जल्द बड़ी आबादी का टीकाकरण करने के उद्देश्य से हाल ही में यह कदम उठाया है। अब कोई भी शख्स जिसकी उम्र 45 साल से ज्यादा है, वह वैक्सीन की डोज लगवा सकेगा। वैक्सीनेशन के लिए लोग ऑनलाइन भी रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं और अस्पताल में भी जाकर टीका लगवा सकते हैं।

देश में कोरोना से हाहाकार

इधर, भारत में एक दिन में कोविड-19 के 72,330 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,22,21,665 हो गई। इस वर्ष सामने आए संक्रमण के ये सर्वाधिक मामले हैं। इससे पहले 11 अक्टूबर 2020 को एक दिन में 74,383 नए मामले सामने आए थे। लेटेस्ट आंकड़ों के अनुसार, 459 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,62,927 हो गई। करीब 116 दिन बाद एक दिन में संक्रमण से मौत के इतने अधिक मामले सामने आए हैं।

आंकड़ों के अनुसार, पिछले 22 दिनों से लगातार बढ़ते नए मामलों के साथ ही उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी बढ़कर 5,84,055 हो गई, जो कुल मामलों का 4.78 प्रतिशत है। इस साल 12 फरवरी को उपचाराधीन मरीजों की संख्या सबसे कम 1,35,926 थी, जो तब के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत थी। देश में अभी तक कुल 1,14,74,683 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और मरीजों के ठीक होने की दर 93.89 प्रतिशत है। वहीं, कोविड-19 से मृत्यु दर 1.33 प्रतिशत है।

देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख रहे और 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार चले गए थे।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में 31 मार्च तक 24,47,98,621 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई। इनमें से 11,25,681 नमूनों की जांच बुधवार को की गई थी। आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 से पिछले 24 घंटे में जिन 459 लोगों की मौत हुई, उनमें से महाराष्ट्र के 227, पंजाब के 55, छत्तीसगढ़ के 39, कर्नाटक के 26, तमिलनाडु के 19, केरल के 15, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के 11-11 लोग थे।

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में वायरस से अभी तक कुल 1,62,927 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र के 54,649, तमिलनाडु के 12,719, कर्नाटक के 12,567, दिल्ली के 11,027, पश्चिम बंगाल के 10,329, उत्तर प्रदेश के 8,811, आंध्र प्रदेश के 7,217 और पंजाब के 6,868 लोग थे।

Share This Post