बिहार

वायरल बुखार का कहर:भागलपुर में एक-एक बेड पर करना पड़ रहा 3-3 बच्‍चों का इलाज

बिहार के भागलपुर में वायरल फीवर के मामले नहीं थम रहे हैं। इसका असर मायागंज अस्पताल की व्यवस्था पर भी पड़ रहा है। हालत यह है कि इमरजेंसी शिशु वार्ड में एक बेड पर तीन-तीन बच्चों का इलाज हो रहा है। मंगलवार को मायागंज के ओपीडी में 99 बच्चों में वायरल फीवर पाया गया। इनमें से 13 बच्चों को भर्ती होने के लिए भेज दिया गया। शाम तक इमरजेंसी के शिशु वार्ड में वायरल फीवर के सात व मेडिसिन विभाग में छह मरीज भर्ती हुए।

मंगलवार को मेडिसिन ओपीडी में कुल 320 मरीजों का इलाज किया गया। इनमें से 30 प्रतिशत यानी 67 बच्चों में वायरल फीवर के लक्षण मिले। शिशु रोग के ओपीडी में कुल 71 बच्चे इलाज के लिए आये। इनमें से 45 प्रतिशत यानी 32 बच्चों में वायरल फीवर की पुष्टि हुई। इन बच्चों में से 13 को छोड़कर बाकी सभी को दवा देकर घर भेज दिया गया। चिकित्सकों का कहना है कि इस बार के वायरल फीवर में हाई ग्रेड का बुखार (101 डिग्री फारेनहाइट से अधिक) पाया जा रहा है। इस प्रकार के मरीजों में सांस फूलने से लेकर ऑक्सीजन तक कम होने की शिकायत पायी जा रही है। उन्हें नेबुलाइज कर इलाज किया जा रहा है।

Share This Post