बिहार विधानसभा चुनाव 2020

विधानसभा चुनाव में 375 से अधिक प्रत्याशी भी हुए तो EVM से ही होगी वोटिंग, पहली बार M3 मॉडल होगा इस्तेमाल

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग इस बार कई नया प्रयोग करने जा रहा है. इसकी तैयारी कर ली गई है. अगर किसी विधानसभा क्षेत्र में 375 से अधिक प्रत्याशी भी मैदान में होंगे तो वोटिंग ईवीएम के जरिए ही कराई जाएगी. इसको लेकर आयोग ने खास तैयारी कर ली है. 

एम 3 मॉडल ईवीएम का होगा इस्तेमाल

बिहार में पहली बार एम 3 मॉडल ईवीएम का इस्तेमाल होगा. इसके बारे में बताया जा रहा है कि एक कंट्रोल यूनिट से 24 बैलट यूनिट कनेक्ट हो सकती हैं. एक बैलट यूनिट में 16 प्रत्याशियों तक के नाम होते हैं. यानी 24 बैलट यूनिट के हिसाब से 384 प्रत्याशी होंगे तब भी ईवीएम से ही वोटिंग कराई जा सकती है. अब तक चुनाव आयोग एम 2 मॉडल की ईवीएम से चुनाव करा रहा था. इस ईवीएम में सिर्फ चार बैलट यूनिट ही कनेक्ट होते है.

तेलंगाना से मिली सीख

बताया जा रहा है कि एम 3 मॉडल को लेकर चुनाव आयोग को तेलंगाना से सीख मिली है. 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान तेलंगाना के निजामाबाद  सीट से 185 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे. इस चुनाव में 175 सिर्फ किसान थे. जो हल्दी के दाम तय नहीं होने के कारण नेताओं के विरोध में चुनावी मैदान में खड़े थे. प्रत्येक बूथ पर 12 ईवीएम का इस्तेमाल हुआ था. जिसके बाद ऐसी स्थिति से निपटने के लिए आयोग एम 3 मॉडल पर काम कर रहा था. 

Share This Post