Bihar Election 2020
समस्तीपुर

वारिसनगर विधानसभा सीट: यहां आसान नहीं JDU का वर्चस्व तोड़ना, लोजपा भी कर चुकी है राज

समस्तीपुर. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Elections) में समस्तीपुर की वारिसनगर विधानसभा सीट (Warisnagar Vidhansabha Constituency) पर 1996 और 2009 के उपचुनाव को जोड़ लें तो वारिसनगर अब तक 17 चुनाव देख चुका है. इसमें जदयू (JDU), लोजपा (LJP) और जनता दल (JD) सबसे ज्यादा 3-3 बार जीत हासिल कर चुके हैं. बीजेपी, राजद या कांग्रेस के लिए ये सीट दूर की कौड़ी ही रही है. फिलहाल जेडीयू का यहां 10 साल से राज है, उससे पहले लोजपा यहां से लगातार तीन बार जीती. महागठंधन टूटने क बाद जेडीयू एक बार फिर लोजपा के साथ एनडीए में है और देखना ये होगा कि ये सीट किसके खाते में जाती है.

कांग्रेस तो यहां 1995 के बाद से किसी भी चुनाव में मुख्य प्रतिद्वंदी तक नहीं बन सकी है. अर्से पर पहले उसने यहां एक बार जीत हासिल की थी. वहीं बीजेपी यहां 2009 और 1996 के उपचुनावों में ही फाइट दे सकी थी, हालांकि तब भी उसे हार ही मिली.

लगातार दो बार से विधायक हैं अशोक कुमार

इस सीट पर जेडीयू के अशोक कुमार मौजूदा विधायक हैं. 2015 में जदयू से अशोक कुमार ने लोजपा के चंद्रशेखर राय को 58,573 वोट से हराया था. अशोक कुमार लगातार दो बार से यहां विधायक हैं. उन्होंने 2010 में राजद के गजेंद्र प्रसाद सिंह को हराया था. वहीं इससे पहले 2009 के उपचुपाव में यहां से लोजपा के विश्वन पासवान और फरवरी 2005 व अक्टूबर 2005 में महेश्वर हजारी जीते थे.
रामेश्वर हजारी, पीतांबर पासवान के नाम सबसे ज्यादा जीत

इस पर सीट पर महेश्वर हजारी के पिता रामेश्वर हजारी का काफी समय तक वर्चस्व रहा. उन्होंने 1967 (संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी), 1969 (संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी), 1985 (निर्दलीय) और 2000 (जेडीयू) में यहां से जीत हासिल की. वहीं पीतांबर पासवान भी यहां का बड़ा नाम रहे, उन्होंने भी 4 बार 1977 (जनता पार्टी), 1980 (जनता पार्टी सेक्युलर), 1990 (जनता दल) और 1995 (जनता दल) में विजय हासिल की.

आबादी और मतदाता

2011 की जनगणना के अनुसार वारिसनगर विधानसभा सीट की कुल आबादी 472523 है. ज्यादातर गांवों में रहती है. इसमें अनुसूचित जाति 19.11 प्रतिशत है. 2019 लोकसभा चुनावों की मतदाता सूची को आधार मानें तो वारिसनगर निर्वाचन क्षेत्र में 3,04,268 मतदाता हैं. इसमें पुरुष वोटर करीब पुरुष 1.63 लाख यानि 53.0% है, जबकि महिला वोटर 1.44 लाख के करीब हैं. इस सीट पर सबसे ज्यादा वोटिंग 25 साल पहले 1995 में हुई थी, जब 65.6 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. 2015 के चुनावों में यहां महिलाओं ने ज्यादा 66.3 प्रतिशत वोट डाले.

जातियों पर एक नजर

इस सीट मुस्लिम, कोइरी, ब्राह्मण और पासवान मतदाता प्रभावी हैं. यादव और रविदास मतदाता भी कम नहीं हैं. 2008 के पहले ये सुरक्षित सीट थी. 2010 में समस्तीपुर जिले में कल्याणपुर सुरक्षित सीट के रूप में अस्तित्व में आई. 1951 के बाद ये सीट 1967 में दोबारा अस्तित्व में आई थी.

वारिसनगर से विधायक

2015- जेडीयू के अशोक कुमार ने लोजपा के चंद्रशेखर राम को हराया

2010- जेडीयू के अशोक कुमार ने राजद के गजेंद्र प्रसाद सिंह को हराया

2009 (उपचुनाव)- लोजपा के विश्वन पासवान ने बीजेपी के संजय पासवान को हराया

2005 (अक्टूबर)- लोजपा के महेश्वर हजारी ने राजद के भीखर बैठा को हराया

2005 (फरवरी)- लोजपा के महेश्वर हजारी ने राजद के संजय पासवान को हराया

2000- जेडीयू के राम सेवक हजारी ने राजद के भीखर बैठा को हराया

1996 (उपचुनाव)- जनता दल के भीखर बैठा ने बीजेपी के संजय कुमार को हराया

1995- जनता दल के पीतांबर पासवान ने कांग्रेस के परमेश्वर राम को हराया

1990- जनता दल के पीतांबर पासवान ने कांग्रेस के परमेश्वर राम को हराया

1985- निर्दलीय राम सेवक हजारी ने कांग्रेस की श्यामा कुमारी को हराया

1980- जनता पार्टी (सेक्युलर) के पीतांबर पासवान ने कांग्रेस (आई) के प्रमेश्वर राम को हराया

1977- जनता पार्टी के पीतांबर पासवान ने कांग्रेस के बालेश्वर राम को हराया

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer