Cold Weather
बिहार

बिहार में आज से बदल सकता है मौसम, कई हिस्‍सों में तेज आंधी और बारिश के साथ वज्रपात की चेतावनी

बिहार के कई हिस्‍सों में आज से मौसम बदल सकता है। मौसम विभाग ने आंधी-पानी और वज्रपात की चेतावनी के साथ यलो अलर्ट जारी किया है। बताया गया है कि बिहार के कई हिस्सों में बुधवार से शनिवार यानी 12 जून तक तेज आंधी, पानी के साथ वज्रपात हो सकता है। 

चेतावनी के अनुसार उत्तर-पश्चिम बिहार के पश्चिमी चंपारण, सीवान, सारण, पूर्वी चंपारण और गोपालगंज के कुछ हिस्सों में बादल गर्जने के साथ आंधी-तूफान आएगा। उत्तर-मध्य बिहार के सीतामढ़ी, मधुबनी मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर और समस्तीपुर में भी मौसम का ऐसा ही हाल रहने की संभावना है।इसके अलावा दक्षिण-मध्य और दक्षिण-पूर्व बिहार के लिए भी 12 जून तक यलो अलर्ट जारी किया गया है। पटना सहित विभिन्न जिलों में इस दौरान 30 से 40 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलने की संभावना जाहिर की गई है। अभी पिछले चार दिनों से जिस तरह की गर्मी पड़ रही है, उस हिसाब से बारिश काफी तेज हो सकती है। 

समय से पहले दस्‍तक दे सकता है मानसून 
मौसम विभाग के अनुसार समय से पहले ही बिहार में मानसून की बारिश शुरू हो सकती है। उधर, पूर्वी चंपारण में मंगलवार को कई जगहों पर बारिश हुई। वहीं शाम में गया में बारिश हुई। पटना का तापमान चढ़ा रहा। दिनभर लोग गर्मी से परेशान रहे। पटना का पारा 40 के पार हो गया था। इस वजह से लोग घरों में कैद रहे। वहीं, रात में भी गर्मी से निजात नहीं मिली। इधर, उत्तर-पश्चिम बिहार में कई जगहों पर बारिश होने से मौसम में बदलाव देखने को मिला। मौसम विज्ञान के अनुसार 11 जून के आसपास बंगाल की खाड़ी के उत्तरी भाग में कम दबाव का क्षेत्र बनेगा जो मानसून को बिहार होते हीए देश के उत्तरी हिस्से में बढ़ने में मदद करेगा।

बिहार में इस सप्ताह के अंत तक मानसून के प्रवेश के आसार प्रबल हैं। देश के अन्य हिस्सों में पिछले एक-दो दिनों में समय पूर्व मानसून के पहुंचने के बाद इस बात की उम्मीद बढ़ गई है कि इस बार मानसून बिहार में समय से पूर्व पहुंचेगा। सूबे में मानूसन की पहली बारिश पूर्णिया में 13 जून को होती है लेकिन इस बार 12 जून तक मानसून की पहली बारिश के आसार जताए जा रहे हैं। इसके बाद पटना और गया में भी यह तय समय 16 जून से पहले ही पहुंचेगा। बिहार में मानसून झूमकर बरसेगा और शनिवार से राज्य के अधिकतर हिस्सों में तेज हवा के साथ झमाझम बारिश दर्ज की जाएगी।इस बार मानसून के लौटने की मानक तिथि में भी बदलाव किया गया है।

बंगाल की खाड़ी में बन रहा है कम दबाव का क्षेत्र 
मौसम विज्ञान केंद्र पटना के निदेशक विवेक सिन्हा ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है। 11 जून तक इसके विकसित होने के आसार हैं। इससे मानसून के प्रसार को बेहद अच्छी गति मिलेगी। चूंकि पश्चिम बंगाल के बागडोगरा में तीन दिन पहले यह मानसून पहुंचा है और हर तरह की परिस्थतियां मानसून के प्रसार को सपोर्ट कर रहीं हैं ऐसे में 12 जून तक मानसून का आगमन बिहार में हो जाना चाहिए। फिलहाल मानसून के प्रसार की परिस्थितियां हमारे पूर्वानुमान और कयासों के समर्थन में हैं।

इस महीने सामान्य से अधिक बारिश का पूर्वानुमान
निदेशक विवेक सिन्हा ने बताया कि भले ही पूरे मानसून सीजन में बिहार में मानसून की बारिश सामान्य से थोड़ी कम रहने का पूर्वानुमान पहले किया गया है लेकिन जून महीने में मानसून सूबे में जमकर बरसेगा। अगले कुछ दिनों में सूबे के कई भागों में मानसून की सामान्य से अधिक बारिश होगी। इससे पहले प्री मानसून की बारिश भी सूबे में होगी। मानसून की बारिश की औपचारिक घोषणा मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से दो दिन तक होने मानक के अनुसार वाली बारिश के आधार पर किया जाएगा।

Share This Post