राष्ट्रीय

हर भारतीय को वैक्सीन कब मिलेगी? पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से किया ऐलान

नयी दिल्ली : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से पूरी दुनिया त्रस्त है. कोरोना को खत्म करने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक इसके वैक्सीन पर काम कर रहे हैं. हालांकि अभी तक किसी भी वैक्सीन का परिणाम नहीं आया है. हालांकि रूस ने जरूर वैक्सीन बनाने का दावा किया है. वहीं स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने लालकिले के प्राचीर से कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़ा ऐलान किया है.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘आज भारत में कोराना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन्स इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं, जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन्स की बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन की भी तैयारी है.

पीएम ने आगे कहा कि देशवासी ने कोरोना से जो लड़ाई लड़ी है, वो ऐतिहासिक है. पीएम ने कहा, ‘जब कोरोना शुरू हुआ था तब हमारे देश में कोरोना टेस्टिंग के लिए सिर्फ एक लैब थी. आज देश में 1,400 से ज्यादा लैब हैं.

हमने बनाया एन-95 मास्क, वेंटिलेटर- पीएम ने कहा कि सिर्फ कुछ महीना पहले तक N-95 मास्क, पीपीपी किट, वेंटिलेटर ये सब हम विदेशों से मंगाते थे. आज इन सभी में भारत, न सिर्फ अपनी जरूरतें खुद पूरी कर रहा है, बल्कि दूसरे देशों की मदद के लिए भी आगे आया है. हम आने वाले समय में उत्पादन क्षमता भी बढ़ाएंगे.

भारत में कोरोना की सबसे सस्ती दवा लॉन्च- हैदराबाद की जेनरिक फार्मा कंपनी एमएसएन ग्रुप ने कोरोना की सबसे सस्ती दवा ‘फेविलो’ लॉन्च की है. इसमें फेविपिराविर ड्रग का डोज है. 200 एमजी फेविपिराविर की एक टेबलेट 33 रुपये की होगी. इससे कोरोना के हल्के और मध्यम लक्षण वाले मरीजों का इलाज किया जा सकेगा. इससे पहले बाजार में कोरोना की सबसे सस्ती दवा फेबिफ्लू 65 रुपये प्रति टेबलेट थी.

Share This Post