बिहार विधानसभा चुनाव 2020 समस्तीपुर

बिहार चुनाव 2020: समस्तीपुर की विभूतिपुर से क्या जदयू का पूरा हो पाएगा हैट्रिक या माकपा करेगी वापसी?

विभूतिपुर समस्तीपुर का एक महत्वपूर्ण विधानसभा क्षेत्र व जिले का दूसरा सबसे बड़ा प्रखंड भी है। इसमें 29 पंचायतें हैं। इस विधानसभा में दलसिंहसराय प्रखंड की छह पंचायतें भी शामिल हैं। यहां दूसरे चरण में 3 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। विभूतिपुर विधानसभा क्षेत्र वामदल का गढ़ रहा है। इसे कभी मिनी मास्को भी कहा जाता था। इसका कारण था कि जिले की एकमात्र यही सीट थी, जहां से माकपा जीतती थी। आमने-सामने की लड़ाई होती थी। माकपा के रामदेव वर्मा यहां से छह बार विधायक रहे। लेकिन, पिछले दो टर्म से इस सीट पर जदयू का कब्जा है। राजद यहां से चुनाव न लड़कर माकपा के लिए ही छोड़ती रही है। वर्तमान में विभूतिपुर का प्रतिनिधित्व जदयू के रामबालक सिंह कर रहे हैं। इन्होंने 2010 के विधानसभा चुनाव में सीपीएम के रामदेव वर्मा को हराया था। रामबालक सिंह को 46,469 जबकि रामदेव को 34,168 वोट प्राप्त हुए थे। 2015 में यहां से राम बालक सिंह लगातार दूसरी बार जीते थे। उन्होंने दोनों ही बार माकपा के राम देव वर्मा को हराया था।



यह भी जानिए

बता दें कि इस सीट पर अब तक कुल 13 चुनाव हो चुके हैं। इनमें 6 बार माकपा, तीन बार कांग्रेस, दो बार जदयू और एक-एक बार संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी और भाकपा के उम्मीदवार जीत चुके हैं। राम देव वर्मा यहां से 6 बार विधायक रह चुके थे। 1990, 1995, 2000, फरवरी 2005 और अक्टूबर 2005 के चुनाव में लगातार जीते थे। जबकि, 1980 में वो पहली बार विधायक चुने गए थे। इस सीट पर अब तक सबसे ज्यादा 70.3% वोटिंग 1990 में हुई थी। फरवरी 2005 में हुए चुनावों को छोड़कर हमेशा ही यहां 50% से ज्यादा वोटिंग हुई है।


जातीय गतिशीलता

विभूतिपुर विधानसभा मुख्य रूप से समाजवादियों का गढ़ माना जाता है। क्षेत्र में कुशवाहा जाति के मतदाताओं की भी भूमिका निर्णायक होती है। इसके अलावा यादव, भूमिहार और राजपूत वोटर्स भी अहम माने जाते हैं।

मौजूदा विधायकः राम बालक सिंह, जेडीयू्

कुल वोटरः 2.58 लाख

पुरुष वोटरः 1.37 लाख


महिला वोटरः 1.20 लाख

ट्रांसजेंडर वोटरः 11

पिछले तीन विधानसभा चुनाव का परिणाम

2015 में मिले मत

रामबालक सिंह (जदयू) : 57,882

रामदेव वर्मा (सीपीएम) : 40,647

2010 में मिले मत

राम बालक सिंह (जदयू) : 46,459

राम देव वर्मा (माकपा) : 34,168

2005 में मिले मत

रामदेव वर्मा (माकपा) : 54,616

राम बालक सिंह (लोजपा) : 41,865

Share This Post