बिहार विधानसभा चुनाव 2020

क्या तेजस्वी व तेजप्रताप का नामांकन होगा रद्द? JDU ने EC से की शिकायत, लगाया यह आरोप

जदयू ने राज्य निर्वाचन आयोग में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव व उनके बड़े भाई व पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव के खिलाफ मंगलवार को शिकायत दर्ज की। सूचना जनसम्पर्क मंत्री नीरज कुमार के नेतृत्व में जदयू का प्रतिनिधि मंडल मुख्य निर्वाचन आयुक्त से मिला और एक ज्ञापन उन्हें सौंपा।

बिहार के मुख्य चुनाव आयुक्त को दिए गए ज्ञापन में प्रतिनिधि मंडल ने आरोप लगाया है कि विधानसभा क्षेत्र 128-राघोपुर एवं 140-हसनपुर से क्रमशः उम्मीदवार तेजस्वी यादव व तेजप्रताप यादव ने बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में दिए गए हलफनामे में अपनी संपत्ति को छिपाया है। इसको लेकर दस्तावेज भी जदयू ने सौंपा है। मुख्य चुनाव आयुक्त बिहार से मांग की कि तेजस्वी यादव एवं तेजप्रताप यादव द्वारा दिए गए गलत हलफनामे की जांच की जाए एवं लोक प्रतिनिधित्व कानून की धारा-123 (2) के तहत कार्रवाई की जाए।

ज्ञापन सौंपने के बाद मीडिया से बाचतीत में नीरज कुमार ने कहा कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव एवं तेजप्रताप यादव के द्वारा चुनावी हलफनामे में संपत्ति विवरण को छुपाया गया है। कहा कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव का यह आचरण राजनैतिक फ्राड जैसा है। जो अपनी संपत्ति छिपाएगा, राजनीति में उससे बड़ा ढ़कोसलेबाज कौन होगा। ऐसे राजनेता से बिहार की जनता और युवा क्या उम्मीद करेंगे? सूचना मंत्री ने कहा कि मुख्य चुनाव आयुक्त ने प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त किया कि उनके ज्ञापन को भारत सरकार के मुख्य चुनाव आयुक्त को सक्षम कार्रवाई के लिए तुरंत प्रेषित किया जाएगा।

Share This Post