बिज़नेस

SBI ग्राहकों के लिए 1 जुलाई से ATM से पैसा निकालना हो जाएगा महंगा, बदल रहे हैं कई नियम

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के ग्राहकों के लिए 1 जुलाई 2021 से कई नियम बदलने वाला है। नए नियम के लागू होने के बाद एटीएम से कैश विद्ड्रॉल (ATM Cash Withdrawal) और चेकबुक (Cheque Book) का इस्तेमाल आपकी जेब पर भारी पड़ेगा। नए चार्जेस बेसिक सेविंग अकाउंट डिपोजिट (BSBD) अकाउंड होल्डर्स के लिए लागू होंगे। आइए आपको बताते हैं कि अब आपको किन सर्विसेज के लिए कितने रुपये खर्च करने होंगे: 

चेकबुक पर बढ़ा इतना चार्ज  
>> एसबीआई BSBD अकाउंट होल्डर्स को एक फाइनेंशियर ईयर में 10 चेक की कॉपी मिलती है। अब 10 चेक वाली चेकबुक पर चार्जेंस देने होंगे। 10 चेक के पत्तों के लिए बैंक 40 रुपये और जीएसटी चार्ज करेगा।

>> 25 चेक लीव के लिए बैंक 75 रुपये और जीएसटी चार्ज करेगा।

>> इमरजेंसी चेक बुक पर 10 पत्तों के लिए 50 रुपये और जीएसटी लगेगा। वहीं वरिष्ठ नागरिकों को चेक बुक पर नए सेवा शुल्क से छूट दी जाएगी।

कैश विड्रॉल से जुड़े चार्जेज  
एसबीआई BSBD खाताधारकों को चार फ्री कैश विड्रॉल ट्रांजैक्शन की सुविधा देता है। फ्री लिमिट खत्म होने के बाद बैंक ग्राहकों से चार्ज वसूलता है। ब्रांच या एटीएम से कैश निकलने के लिए बैंक 15 रुपए प्लस GST वसूलता है।

चेक से निकाल सकते हैं 1 लाख रुपये प्रतिदिन कैश 
SBI ने हाल ही में चेक का उपयोग करके कैश निकालने की सीमा को बढ़ाकर ₹1 लाख प्रतिदिन कर दिया है। बचत बैंक पासबुक के साथ निकासी फॉर्म का उपयोग करके नकद निकासी को बढ़ाकर ₹25,000 प्रति दिन कर दिया गया है।

एसबीआई BSBD अकाउंट के फायदे 
>> एसबीआई बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट अकाउंट गरीब तबके के लिए है।
>>बिना किसी शुल्क या चार्जेस अकांउट खुलता है।
>> इसे जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट भी कहते हैं। 
>> इसमें न्यूनतम या अधिकतम बैलेंस नहीं चाहिए होता।

>> इन अकाउंट होल्डर्स को एटीएम-कम-डेबिट कार्ड मिलता है।

Share This Post