राष्ट्रीय

PM मोदी के बारे में यह बातें नहीं जानते होंगे आप, 20 साल से इस अंदाज में मना रहे जन्मदिन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अपना 71वां जन्मदिन मनाया। उनके जन्मदिन के मौके पर विभिन्न तरह के आयोजन हो रहे हैं। हर कोई इसे अपनी तरह से यादगार बनाना चाहता है। बतौर प्रधानमंत्री मोदी के खाते में अनेक उपलब्धियां हैं तो तमाम आलोचनाएं भी हैं। हालांकि इस तथ्य से कोई इंकार नहीं कर सकता है कि वह देश के एकमात्र नेता हैं जो पिछले 20 साल से कभी राज्य तो कभी केंद्र में बिना सत्ता गंवाएं शीर्ष पद पर विराजमान हैं। आइए जानते हैं पीएम मोदी के बारे में कुछ ऐसे ही दिलचस्प तथ्य.

दो दशक तक बिना ब्रेक

यह साल 2001 था जब प्रधानमंत्री मोदी ने बिना किसी शीर्ष पद पर रहते हुए अपना जन्मदिन मनाया था। तब से अब तक 20 साल हो चुके हैं, जब वह किसी ने किसी जगह चुनी हुई सत्ता के शीर्ष पद पर हैं। अगर इसे दिनों में गिनें तो यह 7285 दिन हो जाएंगे। गौरतलब है कि मोदी 2001 से 2014 तक 12 साल 227 दिन यानी 4607 दिन गुजरात के मुख्यमंत्री रहे। इसके बाद 2014 में वह देश के 14वें प्रधानमंत्री के रूप में चुने गए। तब से अब तक 2671 दिन वह पीएमओ में बिता चुके हैं। अगर केवल प्रधानमंत्री पद की बात करें तो जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और मनमोहन सिंह के बाद वह लंबे समय तक किसी चुनी हुई सरकार के मुखिया रहने वाले चौथे पीएम हैं। नेहरू जहां 6130 दिन तक पीएम पोस्ट पर रहे वहीं इंदिरा ने 5829 दिन बतौर पीएम देश की सेवा की। जबकि मनमोहन सिंह ने 3655 दिन पीएम रहे। अगर मोदी को नेहरू का रिकॉर्ड तोड़ना है तो फिर उन्हें मार्च 2031 तक पीएम रहना होगा। 

राज्य के बाद देश के शीर्ष पद तक 

देश के 14 प्रधानमंत्रियों में से 6 ऐसे रहे हैं जो मुख्यमंत्री पद की भी शोभा बढ़ा चुके हैं। पीएम मोदी इनमें से एक हैं। आखिरी प्रधानमंत्री जो मुख्यमंत्री भी रहे थे उनका नाम था, एचडी देवगौड़ा। देवगौड़ा 1994 से 1996 तक कर्नाटक के मुख्यमंत्री रहे थे। इसके बाद 1996 से 1997 तक वह देश के प्रधानमंत्री भी रहे। हालांकि अन्य मुख्यमंत्री जो प्रधानमंत्री बने उनमें नरेंद्र मोदी का बतौर सीएम कार्यकाल सबसे लंबा रहा है। वह 13 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे। 

पार्टी का सबसे भरोसेमंद चेहरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज की तारीख में भाजपा का सबसे भरोसेमंद चेहरा हैं। उन्होंने एक नहीं कई बार राज्य और देशस्तर के चुनाव में जीत दिलाई है। 2014 में भाजपा 1984 के बाद देश की पहली पार्टी बनी जिसने अपने दम पर लोकसभा चुनाव में बहुमत हासिल किया। पांच साल बाद 2019 में भाजपा ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की और 300 से ज्यादा सीटें हासिल कीं। इसमें उसका वोट शेयर 37.36 रहा जो कि एक रिकॉर्ड है। साल 2014 के बाद से भाजपा के सभी चुनाव में पीएम मोदी ही पार्टी का चेहरा रहे हैं और पार्टी ने कई बार जीत दर्ज की है।

पहली बार, कई बार

प्रधानमंत्री मोदी के सात साल के कार्यकाल में कई यादगार लम्हें दर्ज हुए हैं। जनवरी 2015 में गणतंत्र दिवस के मौके पर बराक ओबामा चीफ गेस्ट बने। यह पहली बार था जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति की मेजबानी की। जुलाई 2017 में मोदी इजरायल की यात्रा करने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री बने। वह 2014 में सार्क देशों के प्रमुखों को अपने शपथग्रहण समारोह में बुलाने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री बने। पिछले महीने वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बने। इसके अलावा उन्हें कई अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चुके हैं। 2019 में रूस और यूएई ने उन्हें सम्मानित किया। वहीं 2020 में अमेरिकी राष्ट्रपति ने भी उनका सम्मान किया। 2021 में टाइम मैग्जीन ने उन्हें 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट में शामिल किया था। 

प्रसिद्धि के शिखर पर पहुंचने वाले पीएम 

प्रधानमंत्री मोदी की जनता में जबर्दस्त पॉपुलैरिटी है। मॉर्निंग कंसल्ट के एक हालिया सर्वे के मुताबिक दुनिया के 13 शीर्ष नेताओं में पीएम मोदी की अप्रूवल रेटिंग सबसे ज्यादा है। पिछले साल अप्रैल मई में जब उन्होंने लॉकडाउन लगाया था तब उनकी प्रसिद्धि 82 फीसदी तक थी। वहीं सोशल मीडिया में भी उनकी अलग पहचान है। यहां पर वह दुनिया के सक्रिय राजनेताओं में सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाली शख्सियत हैं। टि्वटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर मिलाकर उनके कुल 177 मिलियन फॉलोवर्स हैं। केवल पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के संयुक्त रूप से इतने फॉलोवर्स हैं। इंस्टाग्राम पर पीएम मोदी के 60 मिलियन फॉलोवर्स हैं, जो कि दुनिया में किसी राजनेता के सबसे ज्यादा हैं।

Share This Post