Yuvraj Singh
खेल

युवराज सिंह करना चाहते हैं भारतीय क्रिकेट में वापसी, जानिए क्या है ‘सिक्सर किंग’ का प्लान

भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे अच्छे ऑलराउंडर्स में शामिल युवराज सिंह ने पिछले साल इंटरनेशनल क्रिकेट के साथ-साथ भारत की घरेलू क्रिकेट से भी संन्यास ले लिया था। इसके बाद वे विदेशी टी20 और टी10 लीग में खेलने लगे थे। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ ने भी उनको विदेशी लीग्स में खेलने के लिए एनओसी दे दी थी। हालांकि, अब सामने आ रहा है कि युवराज सिंह भारतीय क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं। खासकर घरेलू क्रिकेट में।

अगर सब कुछ योजना के अनुसार हुआ तो युवराज सिंह फिर से भारत में क्रिकेट खेलते नजर आ सकते हैं। युवराज सिंह पंजाब के लिए कम से कम टी20 क्रिकेट खेलने की योजना बना रहे हैं। फिलहाल, भारत का घरेलू सीजन कोरोना वायरस महामारी की वजह से शुरू नहीं हो सका है। जून 2019 में क्रिकेट के हर प्रारूप से संन्यास लेने वाले युवराज सिंह के अंदर फिर से वही जुनून जाग गया है कि उनको क्रिकेट खेलनी है।

साल 2011 के वर्ल्ड कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट युवराज सिंह ने हाल ही में मोहाली के पीसीए स्टेडियम में पंजाब की टीम के युवा खिलाड़ी शुभमन गिल, अभिषेक शर्मा, प्रभसिमरन सिंह और अनमोल प्रीत सिंह के साथ काफी समय बिताया था और उनको ट्रेनिंग भी दी थी। अब युवराज सिंह ने अपनी वापसी के बारे में एक क्रिकेट वेबसाइट से बात करते हुए कहा, “मुझे इन युवाओं के साथ समय बिताने में मजा आया, और खेल के विभिन्न पहलुओं के बारे में उनसे बात करने पर मुझे एहसास हुआ कि वे विभिन्न चीजों को समझने में सक्षम थे जो मैं उन्हें बता रहा था।

युवराज ने बताया, “मुझे उन्हें कुछ अन्य चीजों को दिखाने के लिए नेट्स में उतरना पड़ा और मुझे इस बात पर सुखद आश्चर्य हुआ कि मैं गेंद को कितनी अच्छी तरह से मार रहा था। भले ही मैंने वास्तव में लंबे समय तक बल्ला नहीं थामा था, लेकिन नेट्स में अच्छे शॉट लगा रहा था। मैंने उनको दो महीने तक ट्रेन किया, और फिर मैंने ऑफ सीजन कैंप में बल्लेबाजी शुरू की। मैंने प्रैक्टिस मैचों में रन बनाए। पुनीत बाली जो पंजाब क्रिकेट संघ के सचिव हैं, उन्होंने मुझसे रिटायरमेंट के फैसले को वापस लेने के लिए कहा।”

उन्होंने आगे बताया, “शुरू में मुझे यकीन नहीं था कि मैं ये ऑफर लेना चाहता हूं। मैंने घरेलू क्रिकेट काफी खेली है, लेकिन मैं BCCI से अनुमति मिलने के बाद दुनिया भर में अन्य घरेलू फ्रेंचाइजी आधारित लीगों में खेलना जारी रखना चाहता था, लेकिन मैं पुनीत बाली के अनुरोध को अनदेखा नहीं कर सका। मैंने इसके बारे में बहुत सोचा, लगभग तीन या चार हफ्तों के लिए, और यह लगभग ऐसा था जैसे मुझे अंत में एक सचेत निर्णय लेने की आवश्यकता नहीं थी।”

युवराज सिंह ने बताया कि उनको पंजाब के चैंपियनशिप जीतने से मोटिवेशन मिला है। भज्जी(हरभजन सिंह), मैंने, हमने टूर्नामेंट जीते हैं, लेकिन हमने पंजाब के लिए ये कभी नहीं किया। इसलिए मुझे ये फैसला लेने में आसानी हुई। उन्होंने आगे कहा, “निश्चित रूप से शुभमन गिल भारत के लिए खेलने के लिए तैयार हैं और मुझे ऐसा लगता है कि अन्य तीन खिलाड़ियों में भी वो दमखम है, जो शुभमन गिल में है। अगर मैं उनके विकास में और पंजाब क्रिकेट संघ के विकास में कोई मदद कर सकता हूं तो यह अच्छा होगा। आखिरकार पंजाब के लिए ही खेलकर मैंने इंटरनेशनल क्रिकेट खेली है।”

युवराज सिंह ने अपनी रिटायरमेंट के बाद वापसी को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ के अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह को ईमेल किया है कि वे अगले कुछ सीजन पंजाब के लिए खेलना चाहते हैं। इस लेटर में युवराज सिंह ने इस बात की भी पुष्टि कर दी है कि अगर उनको अनुमति दी जाती है तो वे फिर विदेशी लीग्स में खेलना पसंद नहीं करेंगे। अभी इस मामले में युवराज सिंह को बीसीसीआइ से जवाब मिलना बाकी है। युवराज ने कहा है कि अगर अनुमति मिलती है तो मैं सिर्फ टी20 क्रिकेट खेलूंगा, लेकिन कौन जानता है, देखते हैं। 

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer